सहारनपुर, जेएनएन। देवबंद में मुस्लिम समुदाय के लिए खास इबादत की रात शब-ए-बराअत को लेकर उलमा ने मुसलमानों से घरों में रहकर ही इबादत करने की अपील की है। कहा कि गुनाहों से तौबा करने की इस रात में इबादत के दौरान कोरोना संक्रमण के खात्मे की दुआ करें।

शब-ए-बराअत रमजान माह से 15 दिन पूर्व आती है। इस बार गुरुवार को शब-ए-बराअत है। इसमें मुस्लिम समाज रातभर जागकर इबादत करता है। जमीयत उलमा-ए-हिद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि मुसलमानों ने शासन-प्रशासन के निर्देशों के मुताबिक लॉकडाउन का पालन करते हुए जुमे की नमाज जमात के साथ पढ़ना छोड़ दिया तो ऐसे में शब-ए-बराअत की इबादत पर भी यही हुक्म लागू होगा। उन्होंने अपील की कि सभी अहले मोमिम अपने घरों में ही पूरी रात जागकर इबादत के दौरान रो-रो कर दुआ करें कि अल्लाह पूरी दुनिया को कोरोना से बचा लें। उन्होंने यह भी कहा कि शब-ए-बरात में कब्रिस्तान न जाकर अपने घर से ही फातिहा पढ़ लें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस