सहारनपुर, जेएनएन। जहरीली शराब से होने वाली मौतों के बाद कुछ और स्याह पहलू नजर आने लगे हैं। लोग एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं। किसी को मुआवजा चाहिए तो किसी को श्मशान में जगह। कोई शराब करोबारियों को आरोपित कर रही है। शराब दुकानों पर लूट तोड़फोड़ की घटनाएं भी सामने आ रही है।सहारनपुर के खेड़ा मुगल और कोलकी में ऐसी ही वारदातें होना पुलिस प्रशासन के लिए नया संकट खड़ा करने वाला है।

श्मशान को लेकर दो पक्षों के बीच पथराव 

खेड़ा मुगल गांव में चार मौतों के बाद अंतिम संस्कार के दौरान श्मशान घाट पर अतिक्रमण को लेकर दो पक्षों के बीच पथराव हुआ। खेड़ामुगल में जहरीली शराब पीने से सहेंद्र, बुद्धू भगत, माठा और मंगल की मौत हो गई थी। शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद शव गांव पहुंचे। ग्रामीण शवों को लेकर श्मशानघाट घाट पहुंचे। इस दौरान कुछ लोगों ने श्मशानघाट घाट की भूमि पर रखे उपले तोडऩे का आरोप लगा हंगामा किया। दोनों तरफ से पथराव हुआ। मृतकों के परिजन श्मशानघाट घाट से अतिक्रमण हटने तक अंतिम संस्कार न करने की जिद पर अड़ गए। एसपी देहात डा. विद्यासागर मिश्र, एसडीएम ऋतु पुनिया, सीओ सिद्धार्थ सिंह कई थानों की पुलिस, पीएसएसी के साथ गांव पहुंचे। जेसीबी मंगाकर श्मशानघाट के रास्ते को खाली कराया। इसके बाद अंतिम संस्कार किया गया। 

समाधि बनाने के दौरान काटा पेड़ 
खेड़ा मुगल गांव में जहरीली शराब से मरने वाले बुद्धू भगत एक मंदिर में पुजारी थे। ग्रामीणों ने उनके शव को श्मशानघाट घाट में समाधि दिलाने का निर्णय लिया। हंगामे के बीच समाधि के लिए चयनति स्थल के करीब खड़ा पेड़ भी काट दिया। कड़ी सुरक्षा के बीच समाधि दिलाई गई। 
खुफिया विभाग ने डाला डेरा
गांव में हुए हंगामे के चलते खुफिया विभाग के अफसरों के साथ जिला मुख्यालय से लेकर तहसील तक के अधिकारी मौके पर पहुंचे। मामला लखनऊ तक पहुंचा तो देर शाम लखनऊ रेंज की पीएससी बुलाकर आसपास के गांवों में लगा दी। शराब कांड में शासन से जांच के आदेश मिलने के बाद आइजी शरद सचान ने भी तमाम सुबूत जुटाने शुरू कर दिए हैं। रविवार को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी। बताया कि  शराब कांड प्रभावित इलाकों में जिम्मेदार लोगों के साथ बैठक कर संदेश दिया जा रहा है कि कोई भी व्यक्ति कच्ची या अन्य किसी तरह की शराब न पिए।

कोलकी के ग्रामीणों में गुस्सा 

जहरीली शराब से मौतों से आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार को एक देशी शराब के ठेके पर तोड़फोड़ कर कुछ शराब को आग लगा दी, वहीं आरोप है कि कुछ शराब की पेटियां लूटकर ले गये। दोपहर बाद गागलहेड़ी में मुजफ्फरनगर-सहारनपुर स्टेट हाईवे पर स्थित गांव कोलकी के ग्रामीणों ने मुआवजे की राशि बढ़ाने तथा मृतक के परिवार में एक को सरकारी नौकरी देने की मांग को लेकर हाईवे पर जाम लगाया। एसडीएम ने समझाने का प्रयास किया लेकिन ग्रामीणों ने जाम नहीं खोला। प्रदर्शनकारियों में महिलाओं की संख्या अधिक है। वहां पुलिस फोर्स बुलाई गई है। 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस