सहारनपुर,जेएनएन। घुन्ना गांव में बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा टूटने के बाद हुए बवाल में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद के दो भाइयों और राष्ट्रीय महासचिव कमल वालिया सहित 700 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। गांव में सुरक्षा के बीच म्हाड़ी मेला भी शुरू करवा दिया है, जो गुरुवार को समाप्त हो जाएगा। हालांकि मेला बेरौनक है। पुलिस की ओर से दर्ज हुए दो मुकदमों में नामजद 104 आरोपितों की तलाश में दबिश डालनी शुरू कर दी गई है। सभी घर से फरार हो गए हैं।

मंगलवार को हुए बवाल के बाद गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। गांव में सीओ, दो थानेदार व पीएसी कैंप किए हुए है। म्हाड़ी के मेले में दुकानें तो सजी हैं, लेकिन ग्राहक नहीं हैं। झूले भी शुरू नहीं हो सके। आंबेडकर प्रतिमा स्थल पर भी पुलिस तैनात है। घुन्ना के रहने वाले नरेश पुत्र सिंगारू की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ प्रतिमा तोड़े जाने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। दूसरी तरफ, इंस्पेक्टर कोतवाली देहात मुनेंद्र सिंह ने पथराव, जाम आदि के मामले में मुख्य आरोपित के रूप में नरेश व भीम आर्मी के राष्ट्रीय महासचिव कमल वालिया, चंद्रशेखर आजाद के भाई कमल किशोर व भगत सिंह समेत 77 को नामजद किया है, साथ ही 400 अज्ञात को भी आरोपित बनाया है। तीसरा मुकदमा एसओ जनकपुरी जितेंद्र कुमार की तहरीर पर लिखा गया है। इस मुकदमे में भी कमल वालिया समेत 27 को नामजद व 200 अज्ञात को आरोपित बनाया है। हिसा, बलवा, कातिलाना हमला, लोकसेवक को धमकाना और 7 क्रिमिनल एक्ट के तहत मुकदमे दर्ज किए गए हैं।

---

इनका कहना है..

घुन्ना व नाजिरपुरा में पूरी तरह शांति है। गांव में पर्याप्त फोर्स तैनात किया गया है। दिन में सीओ द्वितीय, तो रात में मुजफ्फरनगर से ड्यूटी पर आए सीओ को कैंप करने को कहा गया है। दबिश डाली गई, लेकिन कोई नहीं मिला। सभी आरोपितों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

-विनीत भटनागर, एसपी सिटी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप