सहारनपुर जेएनएन। उत्तराखंड से रुड़की से लगातार जिले में नकली दवाओं की खेप पहुंच रही है। मंगलवार को एक कार से औषधि निरीक्षक संदीप कुमार और सदर बाजार थाना प्रभारी हरेंद्र सिंह ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए नकली दवाएं पकड़ी है। दो आरोपित भी गिरफ्तार किए हैं। दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

औषधि निरीक्षक और सदर बाजार थाना प्रभारी हरेंद्र सिंह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली कि रुड़की से एक कार में कुछ लोग नकली दवाएं लेकर आ रहे हैं। जिसके बाद पुलिस विश्वकर्मा चौक पर कार का इंतजार करने लगी। लग्जरी कार सवार पुलिस को देखकर कार को दौड़ाने की कोशिश की, लेकिन कार को पकड़ लिया गया। तलाशी में कार से जीफी नामक 200 टेबलेट और मेकोसेफ एलबी की 200 टेबलेट मिली। यह दोनों ही टेबलेट रुड़की में किसी गोदाम में बनाई जा रही थी। यही नहीं कार में से 2.80 लाख रुपये की नकदी भी बरामद की गई। औषधि निरीक्षक ने बताया कि दोनों टेबलेट नकली है, लेकिन असली वाली के दामों में इन्हें सहारनपुर में बेचा जा रहा है। पता किया जा रहा है कि रुड़की में यह दवा कहां बनाई जा रही थी। कार से पकड़े गए युवकों ने पूछताछ में अपने नाम सुमित पुत्र कंवरपाल निवासी गांव छपरेड़ी खुर्द थाना झबरेड़ा हरिद्वार, मनीष कुमार पुत्र अनिल कुमार निवासी शेरपुर खेलमऊ थाना झबरेड़ा हरिद्वार बताया। सदर बाजार थाना प्रभारी हरेंद्र सिंह ने बताया कि दोनों युवकों के खिलाफ औषधि निरीक्षक संदीप कुमार की तरफ से मुकदमा दर्ज कराया गया है। थाना प्रभारी का कहना है कि गाड़ी के कागजात भी आरोपित नहीं दिखा सके हैं। इसलिए यह भी देखा जा रहा है कि गाड़ी चोरी की तो नहीं है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप