जेएनएन, सहारनपुर। ऊर्जा निगम के अधीक्षण अभियंता ने विभाग के पांच अधिकारियों को आरोप पत्र निर्गत किए है। सभी पर विभाग को लाखों रुपये राजस्व की हानि पहुंचाने का आरोप है। बजरंग दल नेता विकास त्यागी द्वारा आरटीआई के तहत मांगी गई सूचना में अधीक्षण अभियंता ने यह जानकारी दी है।

बजरंग दल के प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने मुख्यमंत्री कार्यालय को शिकायती पत्र भेजते हुए बताया था कि फरवरी 2020 में साखन कलां गांव निवासी धीर सिंह के करीब नौ लाख रुपये के विद्युत बकाया जमा में विभागीय अधिकारियों ने गड़बड़ी की है। विद्युत मीटर को पीडी (स्थाई विच्छेदन) करते हुए उक्त राशि में से लाखों रुपये की हेराफेरी कर ली गई है। शिकायत का संज्ञान लेते हुए सीएम कार्यालय द्वारा जांच के आदेश दिए गए थे। इस संबंध में जानकारी लेने को विकास त्यागी ने सहारनपुर कार्यालय से सूचना मांगी थी। अधीक्षण अभियंता असलम हुसैन ने जानकारी देते हुए बताया कि तत्कालीन अधिशासी अभियंता दिनेश कुमार जैन, उपखंड अधिकारी अमित कुमार त्यागी, सहायक अभियंता मोहम्मद रजा, अवर अभियंता राजकिशोर व कार्यकारी सहायक प्रदीप कुमार त्यागी को आरोप-पत्र निर्गत किए गए है। निगम मुख्यालय मेरठ से जांच उपरांत आगे की कार्रवाई होगी। विकास त्यागी ने कहा कि विद्युत विभाग देवबंद के कार्यालय भ्रष्टाचार एवं दलालों के अड्डे बने हुए है। इनमें आम उपभोक्ताओं का शोषण किया जा रहा है। जिन अधिकारियों व कर्मचारियों पर आरोप-पत्र निर्गत हुए है, उनके खिलाफ मुख्यमंत्री व ऊर्जा मंत्री से मिलकर कार्रवाई कराई जाएगी। पुलिस ने किया चोरी का राजफाश, पांच आरोपित गिरफ्तार

पुलिस ने करीब एक माह पूर्व हुई चोरी का राजफाश करते हुए चोरी करने व चोरी का माल खरीदने के पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से चोरी के चार मोबाइल फोन, फर्जी नंबर प्लेट की एक बाइक, एक चाकू व दो कड़े बरामद कर आरोपियों जेल भेज दिया है।

कोतवाल एचएन सिंह ने बताया कि विगत 29 सितम्बर को गांव कुल्हेड़ी निवासी नदीम पुत्र सलामू ने अज्ञात चोरों के विरूद्ध घर में घुसकर चोरी करने के आरोप मे रिपोर्ट दर्ज कराई थी। कोतवाल ने बताया कि पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर गांव कुल्हेड़ी निवासी सुनील उर्फ बीड़ी, मनीष उर्फ पांड्या व अजय उर्फ काजी को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उक्त ने साथ मिलकर चोरी करने की बात स्वीकार की। कोतवाल ने बताया कि उक्त तीनों चोरी का सामान अश्वनी व अनिल निवासी गांव कुल्हेड़ी को बेच दिया था। पुलिस ने उक्त पांचों के कब्जे से चोरी के चार मोबाइल, एक फर्जी नंबर प्लेट लगी संदिग्ध बाइक, एक चाकू व सफेद धातु के दो कड़े बरामद कर पकड़े गए आरोपियों को जेल भेज दिया है।

Edited By: Jagran