सहारनपुर, जेएनएन। प्रदर्शनकारियों पर निगाह रखने के लिए पुलिस, पीएसी व आरएएफ ने तो अपनी पूरी ताकत झोंक रखी थी, लेकिन जामा मस्जिद से लेकर घंटाघर तक ड्रोन का भी भरपूर इस्तेमाल किया गया। नमाज समाप्त होने के बाद जब प्रदर्शनकारियों ने हंगामा शुरू किया तो पुलिस ने ड्रोन के माध्यम से यह जांचने का प्रयास किया तो कहीं किसी के पास तिरंगे व तख्तियों के अलावा कुछ आपत्तिजनक चीज तो नहीं। व्यवस्था पर निगाह रखने के लिए एसएसपी ने शहर व देवबंद के प्रदर्शनकारियों पर निगाह के लिए ड्रोन कैमरों की व्यवस्था की। पुलिस का निजी ड्रोन तो खराब है इसलिए किराये पर ड्रोन लेकर उसे आपरेट करने वाला एक्सपर्ट पुलिस टीम के साथ था। सड़क पर धूल उड़ाता हुआ ड्रोन जब भी उड़ा तो चर्चा का केंद्र बन गया। सभी अपने-अपने काम छोड़ कर उसी को देखने लगे और प्रदर्शनकारी उसकी पहुंच से बचने की कोशिश करने लगे, क्योंकि ड्रोन कैमरा जहां-जहां उड़ रहा है, वह वीडियो तैयार कर रहा था। सभी को डर यह था कि यदि कुछ ऊंच-नीच हो गई तो उनका चेहरा पुलिस पहचान लेगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस