सहारनपुर, जेएनएन। प्राचीन सिद्धपीठ श्री राधा वल्लभ मंदिर में खिचड़ी उत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। रविवार को बारिश के बावजूद बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिर पहुंचे और ठाकुर जी व राधा रानी के भजनों के गुणगान से वातावरण को भक्तिमय बनाए रखा।

मंदिर के सेवाधिकारी हितेश गोस्वामी ने पदों का गायन किया. जिस पर श्रद्धालु आनंदित होकर झूमने लगे। नीरज गोस्वामी ने बताया कि सर्दी से बचाव के लिए ठाकुर जी को ऊनी वस्त्र ग्रहण कराए गए। दूर दराज से श्रद्धालु मंदिर पहुंच श्री राधा नवरंगीलाल जी के दर्शन कर अभिभूत हो रहे है। रविवार को ठाकुर जी की भोग सेवा विपिन राज सर्राफ, आयुष राज गर्ग, वत्सल गर्ग, दर्श गर्ग, रचना कंसल, नीरज कंसल, रक्षित कंसल, हीरालाल, नवनीत वर्मा, विशाखा वर्मा द्वारा की गई। सेवा में भगवान को विभिन्न प्रकार के भोग लगाए गए। नवनीत गोस्वामी, अजय वर्मा, शिव कुमार वर्मा , अजय टंडन, दीपक टंडन, मोनू बंसल, अश्वनी गर्ग, आरती गर्ग, मोनिका गर्ग, मोहित गर्ग, डा. विजेंद्र गोयल व किशोर गुप्ता आदि मौजूद रहे।

बैमासम भारी बारिश से आलू की फसल हुई बर्बाद

संवाद सूत्र, महंगी: पिछले दिनों हुई भारी बारिश के चलते आलू किसानों के खेत खराब हो गए, जिससे किसानों ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर आलू किसानों के खेतों का सर्वे कराकर उचित मुआवजा दिलाने की मांग की है। किसानों ने जिलाधिकारी को भेजे पत्र में कहा कि पिछले दिनों सर्दियों में हुई बेमौसम बारिश से खेतों में पानी भरे रहने के कारण आलू सड़ गया है। वहीं पर बाकी बचे खेतों में भी बीमारी आ गई है। ग्राम उम्मेदगढ़ व गंगोह के किसान राशिद मलिक, सिताब सिंह, सुखविदर सिंह, हारून, सुभाष सैनी, का कहना है कि हमने आलू की अगेती फसल लगाई थी लेकिन बारिश का पानी भरने कारण आलू की अधिकांश खेतों में सड़ गया है। वहीं पछेती खेतों में भी 40 फीसदी तक नुकसान हुआ है, जिसके चलते आलू में भारी लागत के कारण किसान कर्जदार हो गया है। वहीं पर अभी बारिश चल रही है, जिससे किसानों के आगे आर्थिक संकट की स्थिति पैदा हो गई है।

Edited By: Jagran