सहारनपुर (जेएनएन)। स्कूल में छात्रा के सामने गाली देने के मामले को लेकर शुक्रवार रात दो संप्रदाय के लोग आपस में भिड़ गए। दोनों गुटों में लाठी-डंडों से मारपीट के बाद जमकर पथराव हुआ। भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने हालात पर काबू किया। विवाद में दोनों पक्षों से आधा दर्जन लोग जख्मी हुए हैं। फिलहाल गांव में फोर्स तैनात कर दी गई है। 

दो पक्षों में नोकझोंक और मारपीट

सहारनपुर के गांव नन्हेड़ावेद बेगमपुरा निवासी नवाब का बेटा अरबाज गांव के ही स्कूल में कक्षा दस का छात्र है। शुक्रवार दोपहर वह स्कूल में साथियों के साथ हंसी-मजाक में गाली-गलौज कर रहा था। वहीं एक छात्रा भी खड़ी थी। छात्रा ने गाली पर विरोध जताया तो दोनों के बीच नोकझोंक हो गई। घर लौटकर छात्रा ने परिजनों को बताया। रात में अरबाज गांव में ही कलंदर की दुकान पर बैठा हुआ था। छात्रा के परिजन संजीव, अमित, बॉबी, प्रवीण, बिशन व तोते के साथ दुकान पर पहुंचे और अरबाज को पीटना शुरू कर दिया। इस पर दोनों संप्रदाय से दर्जनों ग्रामीण आमने-सामने आ गए। पहले मारपीट हुई फिर पथराव शुरू हो गया। पथराव में कलंदर, नसरीन तथा अरबाज सहित छह लोग जख्मी हो गए। एसओ जितेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि तीन मुकदमे दर्ज कर चार को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं एसएसपी यूके अग्रवाल ने बताया कि 13 लोगों को नामजद करते हुए 105 लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई है।

धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने पर हंगामा 

प्रार्थना के बहाने जबरन धर्म परिवर्तन कराने के शक में बखेड़ा हो गया। एक शख्स ने विरोध किया तो उसे पीटा गया। विहिप नेता के पहुंचने पर आरोपितों को लोगों ने दौड़ाकर पीटा। मौके पर पहुंची पुलिस ने बामुश्किल हालात संभाले। बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। बरेली  के मॉडल टाउन शाहदाना कॉलोनी निवासी करन दीवान, संजय नगर निवासी उमंग यादव, प्रेमनगर में राम जानकी मंदिर के पास रहने वाले केशव सिंह व अन्य का आरोप है कि वह एक वर्ष से इज्जतनगर थाने के पास स्वप्नलोक अपार्टमेंट कॉलोनी में जाते हैं।

हिंदू धर्म छोड़ ईसाई होने का दबाव

सुबह प्रार्थना के दौरान शिवचरन, अशोक कुमार बैंजमन और विजय मैसी ने मिलकर हिंदू धर्म छोड़कर ईसाई धर्म में शामिल होने का दबाव बनाया। इस दौरान एक व्यक्ति ने विरोध किया तो उसे पीटा गया। शोर मचने पर आसपास के लोग एकत्र गए। इसी बीच विश्व हिंदू परिषद के पवन अरोड़ा व अन्य पदाधिकारी मौके पर पहुंच गए। उग्र्र भीड़ तीनों आरोपितों को बाहर खींच लाई और सड़क पर दौड़ाकर पीटा। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह हालात पर काबू किए। बाद में तीनों आरोपितों को पुलिस थाने ले गई। इंस्पेक्टर बलबीर सिंह ने बताया कि मामले में पहले दोनों पक्षों की ओर तहरीर दी गई थी लेकिन बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया। अगर आगे तहरीर आती है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वैसे पुलिस अपने स्तर से जांच कर रही है। 

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस