देवबंद (सहारनपुर) : दुगचाड़ी गांव में गन्ने से भरी ओवरलोडेड ट्रैक्टर ट्राली की टक्कर से एक घर की दीवार जमींदोज हो गई। जिससे घर के आंगन में खेल रहे तीन मासूम गंभीर घायल हो गए। घायलों को सरकारी अस्पताल से हायर सेंटर रेफर किया गया। रास्ते में एक बच्ची की मौत हो गई।

कोतवाली क्षेत्र के गांव दुगचाड़ी निवासी मिटू के घर में उसके तीन बच्चे कार्तिक (5 वर्ष), राशि (2 वर्ष) व राज (3 वर्ष) आंगन में खेल रहे थे। इसी दौरान बाहर से गुजर रही गन्ने से भरी ओवरलोडेड ट्रैक्टर ट्राली ने दीवार में टक्कर मार दी। जिससे दीवार भरभराकर जमीन पर जा गिरी। घर में खेल रहे तीनों बच्चे मलबे में दबकर घायल हो गए। मौके पर पहुंचे लोगों ने परिजनों के साथ मिलकर बमुश्किल बच्चों को मलबे से बाहर निकालते हुए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। आरोपित चालक को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत के चलते तीनों बच्चों को हायर सेंटर रेफर कर दिया। रास्ते में ले जाते समय दो वर्षीय राशि ने दम तोड़ दिया। राज और कार्तिक की हालत गंभीर बताई जाती है। सीओ अजय शर्मा ने बताया कि मृतक बच्ची के परिजनों की ओर से तहरीर मिलने पर आरोपित चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। मासूम बच्ची की मौत से गांव में पसरा मातम

मंगलवार को गांव दुगचाड़ी में दीवार गिरने से हुई एक मासूम बच्ची राशि की मौत के बाद से पूरे गांव में मातम पसरा है। ग्रामीणों का आरोप है की संकरी गली होने के बाद भी चालक द्वारा गली के अंदर से गन्ने से भरी ओवरलोडेड ट्रैक्टर ट्राली को निकालने का प्रयास किया गया। ट्रैक्टर-ट्राली में लदे गए गन्ने दीवार से टकराए और दीवार जमींदोज हो गई। ग्रामीणों ने आरोपित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस