सहारनपुर, जेएनएन। रिश्वत लेने के आरोप में हटाए गए तहसीलदार की तहरीर पर पुलिस ने सपा नेता कार्तिकेय राणा सहित तीन पर सरकारी कार्य में बाधा डालने व एससी एसटी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। कार्तिकेय राणा सपा सरकार में मंत्री रहे स्व. राजेंद्र राणा के पुत्र हैं।

बता दें कि दो दिन पहले सपा नेता कार्तिकेय राणा अपने क्षेत्र के कुछ किसानों के साथ तहसीलदार के कार्यालय पहुंचे थे। उन्होंने शिमलाना गांव के किसान मोहन से सुविधा शुल्क लेने के बाद भी परेशान करने का आरोप लगाकर तहसीलदार को खरी खोटी सुनाई थी। किसान ने तहसीलदार पर दस हजार रुपए लेने का आरोप लगाया था। इसके बाद पता चला कि तहसीलदार ने ली हुई रकम वापस कर दी थी। पूरे मामले का वीडियो बनाकर किसी ने वायरल कर दिया। इसके बाद डीएम ने तहसीलदार कमलेश कुमार को रामपुर तहसील से हटाकर जिला मुख्यालय से संबद्ध कर दिया था। थाना प्रभारी इंस्पेक्टर उमेश रोरिया ने बताया कि तहसीलदार कमलेश कुमार की तहरीर पर बुधवार शाम सपा नेता कार्तिकेय राणा, ग्रामीण मोहन व केपी सिह पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस