सहारनपुर, जेएनएन। विश्व व्यापार संगठन में भारत के गन्ना किसानों के हितों पर हमला करने के कारण भारतीय किसान यूनियन ने गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि ब्राजील के राष्ट्रपति के आगमन का विरोध किया।

भाकियू से जुडे किसान शनिवार को कलक्ट्रेट परिसर में एकत्र हुए और ब्राजील के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। भाकियू के प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी विनय कुमार ने कहा कि ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सनारों के नेतृत्व में वहां की सरकार भारत के गन्ना किसानों की आजीविका के लिए खतरा खड़ा कर रही है। फरवरी 2019 में ब्राजील ने चीनी की वैश्विक कीमत में गिरावट की वजह भारत को बताते हुए भारत के घरेलू समर्थन मूल्यों के साथ-साथ चीनी के लिए निर्यात सब्सिड़ी के उपायों पर भी सवाल उठाया है। फिलहाल विश्व व्यापार संगठन विवाद निपटान निकाय इस शिकायत पर गौर कर रहा है। यदि फैसला भारत के पक्ष में नहीं आता है तो भारत के करोड़ों परिवारों के जीवन और आजीविका पर गंभीर खतरा उत्पन्न हो जाएगा और भारत सरकार किसी भी तरह की घोषणा करने की स्थिति में नहीं होगी। जिलाध्यक्ष चौधरी चरण सिंह ने कहा कि ब्राजील सीधे तौर पर भारत के गन्ना किसान और चीनी उत्पादकों तथा श्रमिकों के लिए भविष्य के लिए खतरा है। इसलिए कृषि को विश्व व्यापार संगठन से बाहर रखा जाए। इस मौके पर जिला महामंत्री चौधरी अशोक कुमार, चौधरी मुकेश तोमर, अरुण राणा, मा. रघुवीर सिंह, चौधरी मेवाराम, चौधरी जगपाल सिंह, मनोज कमाली, केहर सिंह, मनीष चौधरी, चौधरी अनूप सिंह, नरेश स्वामी, आलिम प्रधान, सुरेंद्र कांबोज, हामिद खां, रामबीर, बृजपाल सिंह आदि किसान मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस