सहारनपुर, जेएनन। बीट पुलिस प्रणाली के पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत थाना सदर बाजार से की गई। थाना क्षेत्र में 36 बीट को नए सिरे से एक्टिवेट कर सभी को हाईटेक सुविधाओं से लैस किया गया। एसएसपी ने सभी को हरी झंडी दिखा कर अपने-अपने क्षेत्रों में जाने के लिए रवाना किया।

प्रदेश सरकार ने पुलिस बीट सिस्टम को मजबूत करने के लिए कदम उठाया है। इसके पीछे मकसद यह है कि अब बीट सिपाहियों को बीट अधिकारी कहा जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में गुरुवार से 60 दिन तक इस नई व्यवस्था के तहत काम किया जाएगा। यदि ट्रायल सफल रहा तो बीट प्रणाली को पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जाएगा। इसी के तहत थाना सदर बाजार पुलिस ने 36 बीट को नए सिरे से एक्टिवेट कर हाईटेक कर दिया है। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि सभी 36 बीट सिपाहियों को बीट अधिकारी कहा जाएगा। इन सभी सिपाहियों को वायरलेस, सीयूजी नंबर, पिस्टल, बॉडी वार्न कैमरा, बाइक तथा बीट बुक दी गई है। हालांकि सभी को कैमरा व पिस्टल अभी उपलब्ध नहीं हो सकी है, जल्द ही शासन से सभी आ जाएगा। गुरुवार को एसएसपी ने सभी सिपाहियों को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इस मौके पर एसपी सिटी विनीत भटनागर, एएसपी अर्पित विजयवर्गीय तथा इंस्पेक्टर पंकज कुमार पंत मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस