टांडा, जासं : उप निबंधक कार्यालय में तैनात कर्मचारियों से साठगांठ कर जमीन का फर्जी बैनामा करा लिया। महिलाओं ने कोतवाली में तहरीर देकर फर्जी बैनामा निरस्त कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

मुहल्ला भीमापुरी निवासी दो विधवाओं सुनीता सक्सेना व पूजा सक्सेना का कहना है कि उनकी आराजी में दुकानें व मकान हैं। वह मकान व दुकानों के मालिक व काबिज हैं। नगर पालिका अभिलेखों में उनके नाम दर्ज हैं। आराजी में से दबंगों ने फर्जी विक्रेता दिखाकर तथा उपनिबंधक कार्यालय में साठगांठ कर जमीन का बैनामा करा दिया। न्यायालय में मुकदमा भी विचाराधीन है। इसके बावजूद उपनिबंधक कार्यालय में मनमानी के चलते उनकी दुकानों व मकान के बैनामे कर दिए। बैनामे कराने में भूमाफिया व दबंगों ने मोटी रकम ऐंठकर पूरा साथ दिया। दोनों विधवाओं सुनीता व पूजा सक्सेना ने एसपी से शिकायत कर बैनामे निरस्त कराकर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। विधवाओं सुनीता व पूजा का कहना है कि भ्रष्टाचार मुक्त सरकार में भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। दबंग तथा माफिया का ही राज चल रहा। जमीन स्वामी होने के बावजूद वह अपनी ही जमीन के मामले में न्याय को भटक रही हैं।अधिकारियों के चक्कर लगा रही हैं, लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है।

Posted By: Jagran