रामपुर, जेएनएन। विधानसभा उपचुनाव में मतदाताओं में उत्साह की कमी दिखाई दी। जागरूकता को प्रशासन द्वारा किए गए तमाम प्रयास भी मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाने में कामयाब नहीं हो सके। नतीजा यह रहा कि मतदान की समाप्ति तक मात्र 44 फीसद ही मतदान हो सका। इस दौरान 387919 मतदाताओं के सापेक्ष मात्र 170684 मतदाताओं ने ही वोट डाले।  

 मतदान की समाप्ति तक भी अपेक्षा के अनुरूप मतदान नहीं हो सका। नगर विधानसभा चुनाव के लिए 428 मतदान केंद्रों पर मतदान किया गया। इन पर कुल 387919 मतदाताओं को वोट डालने थे। इनमें 210943 पुरुष और 176951 महिला मतदाता शामिल हैं। इसके अलावा 25 अन्य मतदाता भी हैं। सुबह साढ़े छह बजे पोङ्क्षलग एजेंट बूथों पर पहुंचना शुरू हो गए थे। पोङ्क्षलग पार्टियों ने मतदान शुरू होने से 15 मिनट पहले मॉक पोल किया। इसके बाद मतदान शुरू हो गया। मतदान शुरू होने के पहले एक घंटे तक अधिकांश बूथ खाली नजर आए। हाल यह था कि नौ बजे मतदान का फीसद मात्र छह पर ही पहुंचा था। 10 बजे के बाद हल्की सी तेजी पकड़ी और 11 बजते-बजते यह फीसद 15.48 पर पहुंच गया था। उसके बाद के दो घंटे भी सुस्त रहे। इन दो घंटों में मात्र 9.64 फीसद की ही वृद्धि दर्ज हो सकी। इस प्रकार दोपहर एक बजे तक मात्र 25.12 फीसद वोट ही पड़े थे। उसके बाद के दो घंटों में मतदान की गति और भी धीमी हो गई। एक से तीन बजे के बीच मात्र 7.58 फीसद वोट ही और पड़े। इस प्रकार अपराह्न तीन बजे तक 32.7 फीसद वोट डाले गए। अपेक्षा की जा रही थी कि शाम के समय मतदान में कुछ तेजी आएगी, लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं। तीन से पांच बजे के बीच  6.61 फीसद की वृद्धि के साथ 39.31 फीसद पर ही पहुंच सका। आखिरकार मतदान का अंतिम दौर भी आ पहुंचा। इस समय वोङ्क्षटग की गति लगभग न के बराबर ही रह गई थी। अंतत: 44 फीसद वोट ही पड़ सके।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप