मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, रामपुर : मुहल्ला साहूकारा स्थित एक गली में सराफ व्यापारी की ट्रेन हादसे में मौत हो गई, वहीं दूसरे व्यक्ति ने हार्ट अटैक से दम तोड़ दिया। एक ही गली से दो अर्थियां निकलीं तो माहौल गमगीन हो गया।

मुहल्ला साहूकारा स्थित एक गली में रहने वाले 45 वर्षीय सराफा व्यापारी सुधीर कुमार रस्तोगी की ट्रेन हादसे में मौत हो गई। उनकी मिलक खानम में ज्वैलरी शॉप है। वह सोमवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे किसी काम से रामपुर आए थे। यहां रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर दो से प्लेटफार्म नंबर एक पर आने के लिए रेलवे लाइन पार कर रहे थे। इसी दौरान दिल्ली से काठगोदाम जा रही शताब्दी एक्सप्रेस की चपेट में आ गए, जिससे उनकी मौत हो गई। घटना के बाद वहां भीड़ लग गई। सूचना पर राजकीय रेलवे पुलिस भी आ गई। पुलिस कर्मियों को शव से मिले ड्राइविग लाइसेंस से मृतक की शिनाख्त हुई। पुलिस ने परिजनों को सूचना दी। पुलिस ने शव को जिला अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। परिजन भी वहां पहुंच गए। परिजनों ने बताया कि वह बिना बताए घर से चले गए थे। जीआरपी थाना प्रभारी सतीश कुमार शर्मा ने बताया कि मृतक के पास कोई टिकट नहीं मिला है, जिससे पता चल सके कि वह कहां जाना चाहते थे। उधर सोमवार सवेरे लगभग साढ़े आठ बजे मुहल्ला निवासी 48 वर्षीय सुरेंद्र रस्तोगी को हार्ट अटैक हुआ। परिजन उन्हें प्राइवेट चिकित्सक के यहां ले गए। हालत गंभीर होने पर उन्हें इलाज के लिए रुद्रपुर रेफर कर दिया। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। मृतक के भाई सुनील रस्तोगी ने बताया कि वह अपने पीछे चार पुत्रियां, एक पुत्र एवं पत्नी छोड़ गए हैं। एक ही गली से दो व्यक्तियों की अर्थियां निकलने पर परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों समेत गणमान्य लोग इस घटना को लेकर आहत हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप