रामपुर, जेएनएन। बिना किसी पूर्व सूचना के विद्यालय से गायब चल रहे तीन शिक्षकों को जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने सेवा समाप्ति का नोटिस जारी किया है। नोटिस मिलते ही शिक्षकों में खलबली मच गई है।

एक तरफ जहां रोजगार न मिलने से शिक्षित युवक परेशान हैं तो वहीं कई ऐसे भी हैं जो रोजगार को गवाने के साथ ही बेसिक शिक्षा विभाग की छवि धूमिल करने में लगे हैं। मंगलवार को जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ऐश्वर्या लक्ष्मी ने ऐसे ही तीन लापरवाह शिक्षकों को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी कर दस जून तक कार्यालय में उपस्थित होने के आदेश दिए हैं। साथ ही चेतावनी दी है, यदि शिक्षक निर्धारित तिथि तक कार्यालय में उपस्थित होकर अपना पक्ष नहीं रखते हैं तो मामला एक पक्षीय मानते हुए सेवा समाप्ति कार्रवाई की जाएगी।

यह तीनों शिक्षक स्वार ब्लॉक में तैनात हैं। प्राथमिक विद्यालय धीमर खेड़ा में तैनात सहायक शिक्षक मुकेश कुमार 30 जुलाई 2017 से गायब हैं। प्राथमिक विद्यालय हरनगला में तैनात शिक्षक 16 अगस्त 2018 व प्राथमिक विद्यालय शादीनगर-शाहदरा में तैनात शिक्षक आसिफ अली सात मई 2019 से बिना किसी पूर्व सूचना के विद्यालय से गायब चल रहे हैं। ऐसे में बच्चों की शिक्षा प्रभावित हो रही है। यह अनिवार्य एवं बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम 2011 का खुला उल्लंघन मानते हुए जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने तीनों शिक्षकों को सेवानिवृत्ति का नोटिस जारी करने के साथ ही दस जून तक कार्यलय में उपस्थित होकर अपना पक्ष रखने के आदेश दिए हैं। साथ ही चेतावनी दी है कि यदि निर्धारित तिथि तक उपस्थित होकर अपना पक्ष नहीं रखते हैं तो संबंधित शिक्षकों के खिलाफ सेवानिवृत्ति की कार्रवाई की जाएगी। सेवानिवृत्ति का नोटिस मिलने से शिक्षकों में खलबली मच गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस