जागरण संवाददाता, टांडा : भड़काऊ भाषण देने के आरोप में पुलिस ने गठबंधन प्रत्याशी एवं सपा के राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद आजम खां के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। उन पर चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से लेकर सरकारी अफसरों के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने का आरोप है। मुकदमा चुनाव में बनाए गए उड़न दस्ता प्रभारी पवन कुमार की ओर से टांडा थाने में दर्ज कराया गया है। उड़न दस्ता प्रभारी ने रिपोर्ट में कहा है कि पांच अप्रैल को टांडा के जनता राइस मिल मैदान में पांच अप्रैल को गठबंधन प्रत्याशी मोहम्मद आजम खां ने जनसभा की थी। उन्होंने अपने भाषण में कहा था कि संवैधानिक कुर्सियों पर बैठे लोग मुजरिम हैं। एक दिन सजायाफ्ता कल्याण सिंह को गवर्नर बना दिया गया है। इसी के साथ प्रधानमंत्री को मुसलमानों का कातिल व धर्म का ठेकेदार कहते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अमर्यादित टिप्पणी करते हुए नीच कहा और यह भी कहा कि मेरे बच्चों के पानी, सीवर, बिजली के कनेक्शन काट दिए गए। कहा कि अरे नीच और कितना नीचे गिरोगे। अधिकारियों से कितने मुकदमे लिखवाओगे।प्रशासनिक अधिकारियों को जालिम कहते हुए कहा कि शिक्षा के मंदिर की दीवारें तुड़वाई गई हैं। उर्दू गेट इसलिए तोड़ दिया गया कि उसका नाम उर्दू गेट था। यह भी कहा कि मुसलमानों एक हो जाओ। आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता सारे मुसलमानों को गाली देने के अलावा कोई काम नहीं करते। जिला प्रशासन के अधिकारियों पर भी उनकी माताओं को इंगित करते हुए कहा कि ऐसी कोख पर लानत है जिसने ऐसे कपूतों को पैदा किया है। कमीने व जलील शब्दों का प्रयोग किया। चुनाव आयोग पर भी आरोप लगाया कि आयोग ने मेरे बोलने पर मेरी जुबान काट दी है, जबकि कल्याण सिंह ने जो कुछ कहा उस पर रोक नहीं लगाई गई। यह चुनाव सिर्फ मुसलमानों से जितनी नफरत की जाए के आधार पर लड़ा जा रहा है। टांडा पुलिस ने आजम खां के खिलाफ लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम समेत भड़काऊ भाषण देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। भाजपा नेताओं ने की थी शिकायत

रामपुर : आजम खां के खिलाफ टांडा की जनसभा में भड़काऊ भाषण देने के मामले में भाजपाइयों ने शिकायत की थी। भाजपा लघु उद्योग प्रकोष्ठ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय संयोजक आकाश सक्सेना ने टांडा थाने में आजम खां के खिलाफ तहरीर दी थी। उनके अलावा स्वार के मुहल्ला चक स्वार निवासी लक्ष्मीकांत सैनी ने इसी मामले में शिकायत की थी। हालांकि प्रशासन ने इस मामले में अपने स्तर से कार्रवाई की है। गौरतलब है कि आजम खां के खिलाफ इससे पहले भी दो मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। इनमें एक मुकदमा स्वार में अनुमति से अधिक देर तक रोड शो कराने का हुआ है, जबकि दूसरा शहर कोतवाली में अधिकारियों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने का हुआ है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस