रामपुर, जागरण टीम: रामपुरी चाकू और वायलिन के कारोबार को बढ़ावा देने के लिए शहर विधायक प्रयासरत हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष चाकू और वायलिन को जीएसटी के दायरे से बाहर रखे जाने का सुझाव रखा है।

एक समय था जब रामपुर को चाकू और वायलिन के लिए जाना जाता था। मगर सुविधाओं के अभाव और सरकारों की बेरूखी के कारण दोनों कारोबार ही सिमट गए। इन्हें फिर से बढ़ावा देने के लिए पहले मंडलायुक्त आंजनेय कुमार सिंह ने प्रयास किया था। 

शहर विधायक आकाश सक्सेना ने कदम आगे बढ़ा दिए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष सुझाव रखा है कि रामपुर के चाकू और वायलिन के कारोबार फिर से पटरी पर लाने के लिए सरकार को कुछ ठोस कदम उठाने होंगे। इसमें सबसे बड़ा मुददा जीएसटी का है। क्योंकि, जीएसटी लगने की वजह से ये उत्पाद महंगे हो गए हैं। इसमें कारोबारियों का मुनाफा भी कम हो गया है। 

इन दोनों ही उत्पादों को जीएसटी के दायरे से बाहर किया जाएगा तो इससे इस कारोबार को बढ़ावा मिलेगा। शहर विधायक आकाश सक्सेना ने बताया कि जल्द ही सरकार दोनों उत्पादों को जीएसटी के दायरे से बाहर कर रामपुर के कारोबारियों को बड़ी सौगात देगी।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट