रामपुर, जागरण संवाददाता: राष्ट्रीय लोकदल के मंडल प्रभारी चौधरी तेजपाल सिंह ने कहा कि किसानों की तीन समस्याओं को लेकर हमारी पार्टी ने अभियान शुरू किया है। इसे लेकर अभी किसान पत्र भेजकर सरकार से मांग की जा रही है। पत्र से बात नहीं बनी तो फिर आंदोलन करेंगे। वह बुधवार को पार्टी के सिविल लाइंस स्थित कार्यालय पर मीडिया से बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि चीनी मिल शुरू हुए चार माह बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक प्रदेश सरकार ने न तो गन्ना मूल्य किया है और न ही बकाया भुगतान करा रही है। पश्चिम उत्तर प्रदेश में गन्ना मुख्य फसल है। इस पर किसान निर्भर हैं। समय पर भुगतान न होने से किसान के परिवार में शादी-ब्याह, मकान बनाना आदि काम रुके हुए हैं। किसान को कर्ज लेना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री से वार्ता हुई। तब उन्होंने 14 दिन में भुगतान कराने का वादा किया था, जो पूरा नहीं हो सका। नियमानुसार, 14 दिन में भुगतान न करने पर ब्याज देना होता है, लेकिन चीनी मिलें ब्याज का भी भुगतान नहीं कर रही है। 

उन्होंने कहा कि गन्ना मूल्य कम से कम 400 रुपये प्रति क्विंटल तय होना चाहिए। हमारी पार्टी की सरकार से तीन मांगें हैं। गन्ना मूल्य तय करें, गन्ना मूल्य का भुगतान कराएं और बेसहारा पशुओं से किसान को निजात दिलाएं। बेसहारा पशुओं के लिए सरकार आश्रय स्थल खोलने की बात तो करती है, लेकिन उस पर खरी नहीं उतर रही। पार्टी इसके लिए किसान पत्र अभियान चला रही है। इसके तहत प्रत्येक जिले से 10 हजार किसान पत्र मुख्यमंत्री को भेजे जाने हैं। रामपुर जिले से 5500 पत्र भेजे जा चुके हैं। 

मंडल प्रभारी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ों यात्रा पर कहा कि हम इसका समर्थन करते हैं। लोग इस यात्रा पर उनके कपड़ों का लेकर मजाक बना रहे हैं, जो गलत है। इस मौके पर रालोद के रूहेलखंड क्षेत्र अध्यक्ष चौधरी रामवीर सिंह, किसान प्रकोष्ठ रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष बलजीत सिंह बिट्टू आदि भी मौजूद रहे।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट