जागरण संवाददाता, रामपुर : विद्यालयों के कायाकल्प को लेकर चमरौआ ब्लाक में एक दिवसीय कार्यशाला हुई, जिसमें सभी शिक्षकों से प्रस्ताव मांगे गए हैं।बुधवार को ब्लाक संसाधन केंद्र शंकरपुर में कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में खंड शिक्षाधिकारी विजय वीरेंद्र सिंह ने कहा कि परिषदीय विद्यालयों का कायाकल्प चौदवें व राज्य वित्त से कराया जाएगा।कहा कि परिषदीय विद्यालयों में भौतिक संसाधन जुटाने के लिए ऑपरेशन कायाकल्प शुरु किया गया है। इसका मकसद जनपद के सभी परिषदीय विद्यालयों का कायाकल्प कराया जाना प्रस्तावित है। इसके लिए उन्होंने बैठक में मौजूद शिक्षकों से आह्वान किया कि वह अपने-अपने विद्यालयों में कराए जाने वाले कार्यों के प्रस्ताव बनाकर शीघ्र जमा कर दें, जिससे कार्य शीघ्र कराया जा सके। जिला समंवयक निर्माण फहीम अहमद खां ने बताया कि शिक्षक विद्यालय संबंधी कार्य योजना में स्मार्ट ब्लैकबोर्ड, शौचालय, मूत्रालय, स्वच्छ पेयजल, मल्टीपल हैंडवाशिग सिस्टम, चाहरदीवारी, छत, दरवाजे, खिड़की, फर्श, विद्युतीकरण, किचेन शेड, फर्नीचर, गेट, इंटरलॉकिग, टाइल्स आदि कार्य कराने संबंधी प्रस्ताव बनाकर जमा कर दें। उन्होंने यह प्रस्ताव सप्ताहभर में देने के निर्देश दिए। बताया कि प्राप्त प्रस्तावों के अनुसार ही पंचायती राज विभाग द्वारा यह कार्य 14वें एवं राज्य वित्त से कराए जाएंगे। विदित रहे, शासन द्वारा परिषदीय विद्यालयों के कायाकल्प के लिए जिलाधिकारी को नामित किया गया है। इसके तहत सभी विद्यालय 31 मार्च 2020 तक सभी मूलभूत सुविधाओं से लैस हो जाएंगे। कार्यशाला में चरन सिंह, अंजुम स्नेही, महेंद्र सिंह हल्दिया, सुरेंद्र यादव, सुषमा रानी, शिखा सक्सेना, शालिनी रावत आदि मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021