रामपुर : शहजादनगर थाना क्षेत्र में जिस युवती की लाश जलते उपलों के बीच मिली थी, उसकी 48 घंटे बाद भी शिनाख्त नहीं हो सकी है। पोस्टमार्टम से पुलिस अभी तक इतना ही जान पाई है कि युवती की मौत सिर में चोट लगने से हुई है। यानी, युवती की हत्या कहीं और कर दी गई थी और बाद में साक्ष्य मिटाने के लिए उसकी लाश यहां लाकर उपलों के बीच रखकर जलाने का प्रयास किया गया। लाश को लाने के लिए किसी वाहन का इस्तेमाल किया गया होगा, इस उम्मीद के साथ पुलिस हाईवे पर मूंढापांडे मुरादाबाद और फतेहगंज पश्चिमी बरेली पर बने टोल के सीसी कैमरे की रिकार्डिंग खंगाल रही है।

हत्या कर शव जलाने का यह मामला शहजादनगर थाना क्षेत्र का है। यहां हाईवे से सटे मेघानगला गांव में एक खेत में रखे उपलों में मंगलवार को धुआं उठता देख लोगों की भीड़ लग गई थी। लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया तो उसमें उपलों के बीच युवती की लाश नजर आई। इससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई। सूचना पर पुलिस आ गई। लाश को कब्जे में कर लिया। पुलिस ने छानबीन की तो इतना ही जान सकी कि किसी ने हत्या कर शव को चुपचाप उपलों के बीच रखकर आग लगा दी। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। मृतका की शिनाख्त के लिए पुलिस ने मृतका के हुलिये के आधार पर पम्फलेट छपवाए और उन्हें आसपास गांवों में बंटवाना शुरू कर दिया। थाना प्रभारी कृष्ण कुमार ने बताया कि आसपास के थानों से भी इस हुलिये की किसी युवती की गुमशुदगी के बारे में जानकारी की जा रही है। इसके अलावा हाईवे पर दोनों टोल पर लगे सीसी कैमरे की रिकार्डिंग भी देखी जा रही है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप