मिलक (रामपुर) : भारतीय किसान यूनियन अंबावता के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को नगरिया खाता में विद्युत विभाग के खिलाफ नारेबाजी कर जमकर प्रदर्शन किया। साथ ही चेतावनी दी कि अगर कर्मचारियों ने अपना रवैया नहीं सुधारा बिजलीघर पर धरना दिया जाएगा।

नगराध्यक्ष नईम कश्मीरी ने कहा कि बिजली विभाग के जेई व कर्मचारी गरीब, किसान, मजदूरों का शोषण कर रहे हैं। खुलेआम रिश्वतखोरी का धंधा चल रहा है। चेकिग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। बिजली के बिल अधिक भेजे जा रहे हैं जबकि गरीब किसानों के एक किलो वाट के कनेक्शन हैं और बिल दो किलो वाट का भेजा जा रहा है। शिकायत करने पर भी अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे। बिजली विभाग में पूरी तरह से भ्रष्टाचार चरम सीमा पार कर चुका है, जिसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बिजली विभाग के कर्मचारी घरों में बिना इजाजत घुस जाते हैं। घरों के अंदर अधिकतर औरते होती हैं। औरतों के साथ बदतमीजी की जाती है। अगर बिजली विभाग ने अपना रवैया नहीं सुधारा तो शीघ्र बिजलीघर पर धरना देकर ऐसे भ्रष्ट अधिकारी व कर्मचारियों को सबक सिखाया जाएगा। इस मौके पर अशरफ अली खान, हबीब राजा, रजा कुमार गौतम, हाजी रजा खान, तनवीर खान, अली रजा खान, शाहिद खान, रामकुमार, लईक अहमद अंसारी, नसीर मुल्लाजी, सनी खान, शराफत खान, शोएब खान आदि मौजूद रहे। खिदमत-ए-अवाम ने प्रदर्शन कर की एसडीओ के स्थानांतरण की मांग

स्वार : खिदमत-ए-आवाम युवा समिति के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को विद्युत विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर एसडीओ पर उपभोक्ता के साथ अभद्र व्यवहार करने व बिना नोटिस के कनेक्शन काटने का आरोप लगाया और उनके स्थानांतरण की मांग की।

जिलाध्यक्ष नईम कुरैशी ने कहा कि विद्युत विभाग के एसडीओ द्वारा उपभोक्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार करना आम बात हो गई है। बिना नोटिस दिये कनेक्शन काट दिए जाते हैं। इस अनैतिक व्यवहार को लेकर लोगो में आक्रोश है। समिति ने एसडीओ का स्थानांतरण किए जाने की मांग की है। प्रदर्शन करने वालों में फुरकान जाफर, सरफराज चौधरी, समीर सैफी, मुहम्मद यूसुफ, असलम अंसारी, बाबू कुरैशी, एम जिया मलिक, समीर चौधरी आदि मौजूद रहे। एसडीओ अमरपाल सिंह ने बताया कि उनकी किसी भी उपभोक्ता से कहासुनी तक नही हुई है। उनके ऊपर लगाए गए आरोप निराधार हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप