जागरण संवाददाता, बिलासपुर : भारतीय किसान यूनियन अंबावता के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्षमोहम्मद हनीफ वारसी ने कहा कि गेहूं केंद्रों की सुस्ती ज्यादा औरसंख्या कम दिखाई दे रही है। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे निर्धारितमूल्य से कम में गेहूं की फसल न बेचे। वह गांव सनकरा मे आयोजित पंचायतमें बोल रहे थे। कहा कि निर्धारित मूल्य से नीचे दामों परअपना गेहूं ना बेचें किसान।अगर कोई भी आढ़ती निर्धारित मूल्य से कम कीमतपर किसानों का गेहूं खरीदेगा तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्जकराया जाएगा। गेहूं हो या धान व गन्ना अपनी फसलबेचने के लिए किसानों को धक्के खाने पड़ते हैं। कहाकि देश आ•ाद हुए 70 वर्ष बीत चुके हैं, लेकिन देश का किसान आज भी गुलामीकी जिदगी जी रहा है। मुख्यमंत्री के कई बार बयान आ गए हैं कि किसानों काभुगतान इस तारीख में कर दिया जाएगा, लेकिन आदेश को भी चीनी मिलेंहवा में उड़ा रही हैं। देश का अन्नदाता आत्महत्या कर रहा है।किसी भी राजनीतिक पार्टी के घोषणा पत्र में किसानों के कर्जमाफी काज्रिक तक नहीं है। देश का किसान सदमे में है। कर्जामुक्त की बात करनेवाले राजनेता आज चुप बैठे हैं। नजीर दूला, कालीचरन, इल्यासअहमद, नासिर अली,  रामचरन लाल, मकसूद अली, मोहम्मद सलीम, फारूक अली,खुर्शीद अली,  जाहिद हुसैन,  •ाकिर अली वारसी, हसीब वारसी, इकरारअहमद, इस्तेकार अहमद, मोहम्मद आलिम, मोहम्मद रफी सुलेमानी,  फरजन्द अली,महबूब पाशा, मेंहदी हसन आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप