जागरण संवाददाता, रामपुर : ज्वालानगर में पानी के ओवरहेड टैंक की एक मोटर पिछले 15 दिनों से ज्यादा समय से खराब है, जिसके चलते कालोनी के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले दो दिनों से बिजली की आंख-मिचौनी के कारण पानी की टंकी ठीक से नहीं भर पाई, जिससे लोगों को पानी की काफी दिक्कत हुई। इस पर लोगों ने पानी की टंकी पर जाकर टूयबवेल आपरेटर से नाराजगी जताई और शीघ्र मोटर ठीक कराने की मांग की।

ज्वालानगर के लोगों का कहना है कि 27 नवंबर से क्षेत्र में पेयजल संकट गहरा गया है। सुबह के समय कुछ देर पानी आता है और थोड़ी देर बाद ही चला जाता है। पिछले दो-तीन दिन से तो पानी की काफी किल्लत हो गई है, कब पानी आया और कब चला गया इसका भी नहीं पता लग रहा है। ऊंचे स्थानों पर तो पानी पहले ही नहीं जाता था। ऐसे में लोगों को जरूरी काम के लिए भी पानी सरकारी हैंडपंप या पड़ोस के घरों से भरकर लाना पड़ रहा है। पूरे दिन पानी के लिए बाल्टी लेकर चक्कर काटने पड़ रहे हैं। इससे क्षेत्र के लोगों में काफी रोष है। लोगों ने पानी की टंकी पर जाकर मालूम किया तो वहां पर तैनात आपरेटर ने बताया कि ज्वालानगर में बनी पानी की टंकी के लिए दो टयूबवेल बने हुए हैं। एक टयूबवेल पानी की टंकी के नीचे है तो दूसरा आगापुर रोड पर राम-मनोहर लोहिया पार्क के अंदर बना हुआ है। ऐसे में 27 नवंबर को पानी की टंकी के नीचे बने टूयबवेल की मोटर खराब हो गई थी, जिसे अगले दिन ही निकलवा दिया गया, मगर दूसरी मोटर न होने के कारण अभी तक बदली नहीं जा सकी है। इसके कारण जब से राम मनोहर लोहिया पार्क में बने टयूबवेल से ही पानी की टंकी को भरा जा रहा है, जिससे पानी की टंकी ठीक से नहीं भर पाती और कुछ देर में ही खाली हो जाती है। इसके अलावा पिछले दो-तीन दिन से बिजली की आंख-मिचौनी जारी है। राम-मनोहर लोहिया पार्क में बने टयूबवेल पर जेनरेटर भी नहीं है, जिससे पानी की टंकी ठीक से नहीं भर पा रही है। पानी की मोटर लगने के बाद पेयजल सप्लाई फिर ठीक प्रकार से मिलने लगेगी। इस पर लोगों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि शीघ्र मोटर बदलवाई जाए।

जलकल विभाग के अवर अभियंता पीसी आर्य ने बताया कि ज्वालानगर में पानी की मोटर का बुश खराब हो गया है, जो ठीक होने के लिए मुरादाबाद भेजा गया है। रविवार को वापस आने पर पानी की मोटर को ठीक करा दिया जाएगा। ज्वालानगर में पानी की टंकी के नीचे बने टयूबवेल की मोटर को खराब हुए 15 दिन से ज्यादा हो गए हैं। इससे पानी की किल्लत है। शीघ्र पानी की मोटर ठीक कराई जाए। पिछले 15 दिनों से पेयजल की परेशानी है, दो-तीन दिन से तो घरों में पानी नहीं पहुंच पा रहा है, इससे लोगों को पड़ोस से बाल्टियां भरकर लाना पड़ रही हैं। शीघ्र मोटर ठीक कराएं। पेयजल का प्रेशर काफी कम आता है। पिछले 15 दिनों से ज्यादा दिक्कत हो गई है। 15 दिनों से फुंकी मोटर अभी तक ठीक नहीं हुई है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। एक टयूबवेल की मोटर फुंक गई है तो दूसरे पर जेनरेटर तक नहीं लगवाया गया है, जिससे लाइट के जाने पर पेयजल सप्लाई बाधित हो जाती है। इससे लोगों को दिक्कत हो रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस