जागरण संवाददाता, मिलक : तहसील सभागार में मंगलवार को संर्पूण समाधान दिवस में 21 शिकायतें आईं। मात्र एक शिकायत का निस्तारण किया गया। सुबह 11 बजे एडीएम रामभरत तिवारी की अध्यक्षता में समाधान दिवस शुरू हुआ। समाधान दिवस में मुहल्ला पटेल नगर निवासी वीरेंद्र सिंह ने मुहल्ले में मौजूद तालाब की चारदीवारी बनाने की मांग की। भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के कार्यकर्ताओं ने बारिश और ओलावृष्टि से बर्बाद हुई किसानों की फसल का मुआवजा दिलाने, किसान सम्मान निधि के लिए किसानों को तहसीलों में कैंप लगाकर उनकी समस्या का समाधान कराने आदि की मांग की। भाकियू के प्रदेश संगठन मंत्री अजय बाबू गंगवार, ब्लाकाध्यक्ष एमडी कादरी, मंडल सचिव हरपाल सिंह गंगवार, तहसील अध्यक्ष महेश चंद्र गंगवार, नरेंद्र गंगवार, त्रिवेणी सिंह आदि किसान व कार्यकर्ता मौजूद रहे। बजरंग दल के जिला गोरक्षा प्रमुख मुकेश पटेल ने मुहल्ला रौराकलां स्थित नदी पर कब्जा हटाने की मांग की। भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ताओं ने किसानों की बारिश व ओलों से नष्ट फसल का सर्वे कर उसका आंकलन करने, फसल बीमा कंपनियों द्वारा किसानों के बीमे की रकम को समय पर न देने, समाधान दिवस में दी जाने वाली शिकायतों के समय पर निस्तारण कराने की आदि की मांग की। इस दौरान संघ के जिलाध्यक्ष आदेश कुमार शंखधार, जिला मीडिया प्रभारी मुजीब कमाल, मथुरा प्रसाद, हरीश राठौर, नंदराम आदि मौजूद रहे। समाधान दिवस में एसडीएम ज्योति गौतम, तहसीलदार विमल कुमार शुक्ला, सीओ धर्म सिंह, पीएचसी प्रभारी डॉ. मोहित रस्तोगी, पालिका इओ छोटे कन्हैया सिंह आदि मौजूद रहे। शाहबाद : मुख्य विकास अधिकारी शिवेंद्र कुमार ने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस में आई शिकायतों को गंभीरता से लेकर निस्तारण करें। वह संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता कर बोल रहे थे। इस मौके पर कुल 41 शिकायतें आईं, जिनमें तीन शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण किया गया। एसडीएम प्रवीण वर्मा, तहसीलदार नरेंद्र कुमार, एसएचओ नरेंद्र त्यागी, एसडीओ बिजली आदित्य प्रकाश दिवाकर, खंड विकास अधिकारी वरुण चतुर्वेदी, आपूर्ति निरीक्षक संतोष श्रीवास्तव, खंड शिक्षाधिकारी नरेंद्र श्रीवास्तव आदि अधिकारी उपस्थित रहे। बाद में मुख्य विकास अधिकारी एवं एसडीएम प्रवीण वर्मा ग्राम बंदार पहुंचकर विकास कार्यों का निरीक्षण किया। गांव में नालियों, सीसी तथा खड़ंजे की जांच की बाद में प्राथमिक विद्यालय में पहुंचकर विद्यालयों को जांचा परखा। विद्यालयों के कायाकल्प कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यालयों का कायाकल्प किया जा रहा है, जिसमें विद्यालयों की बाउंड्री एवं गेट की मरम्मत के कार्य कराए जा रहे हैं। मुख्य विकास अधिकारी ने खंड विकास अधिकारी वरुण चतुर्वेदी तथा दूसरे अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यालयों में साफ-सफाई पर ध्यान दें।जिन विद्यालयों में रंग तथा पुताई का कार्य नहीं हुआ।उन विद्यालयों में रंग तथा पुताई का कार्य कराया जाए।

बिलासपुर : मंगलवार को तहसील परिसर स्थित सभाकक्ष में उपजिलाधिकारी डॉक्टर राजेश कुमार की अध्यक्षता में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया। इसी बीच सेवानिवृत शिक्षक रामलाल गंगवार ने पत्र सौंप अवगत कराया है। उसे वेतन वृद्धि के तहत बढ़ी हुई धनराशि दो साल से नहीं मिली है। उसके मुताबिक उसने कई बार शिक्षा विभाग को पत्र सौंपे हैं। इसके बावजूद भी विभाग द्वारा उसकी समस्या का समाधान नहीं कराया गया है।उसने एसडीएम से समस्या का शीघ्र समाधान कराने की मांग की है। संपूर्ण समाधान दिवस में सबसे अधिक शिकायतें राशन, बिजली तथा प्रधानमंत्री आवास योजना के संबंध में आए हैं।

तहसील दिवस में अशोकनगर के विद्युत उपखंड अधिकारी के तहसील दिवस में नहीं आने उपजिलाधिकारी ने नाराजगी जताते हुए कार्रवाई के लिए जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। एसडीएम ने अधिकारियों को तहसील दिवस में आए शिकायतों का शीघ्र समाधान कराने के आदेश दिए हैं। समाधान दिवस में 15 शिकायतें आईं, जिसमें अधिकारियों ने दो शिकायतों का मौके पर ही समाधान कर दिया।सीओ जयराम, खंड शिक्षाधिकारी विजय कुमार, विद्युत उपखंड अधिकारी संजय कुमार, एडीओ पंचायत वीर सिंह दिवाकर, सीडीपीओ मुदिता तिवारी, कोतवाल माधो सिंह बिष्ट समेत अन्य तहसील स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

स्वार : मंगलवार को तहसील सभागार में एसडीएम राकेश कुमार गुप्ता व सीओ ब्रहमपाल सिंह की अध्यक्षता में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में पूर्ति, राजस्व, बिजली, पुलिस, विकास समेत 30 शिकायतें प्राप्त होने के साथ ही क्षेत्र के गांव छपर्रा के ग्रामीण तेजपाल सिंह, पूरन सिंह, मोहम्मद यामीन, रोशन लाल, ओमप्रकाश, सत्यपाल, फरजंद आदि ने शिकायत की कि होली से पूर्व छपर्रा की दुकान को निकट गांव रुस्तमनगर में राशन विक्रेता से संबद्ध कर दिया गया था। राशन विक्रेता ने राशन का वितरण न कर उपभोक्ताओं को राशन की दुकान पूर्ति निरीक्षक द्वारा सीज करने को कहकर टरका दिया था।जांच कर कार्रवाई की मांग की है। किसी भी शिकायत का मौके पर निस्तारण नहीं हो सका। संबंधित अधिकारियों को सौंप दिया गया है। एसडीएम ने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस में आईं शिकायतों को अधिकारी गंभीरता से लें, क्योंकि ऐसी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। बिना शिकायतकर्ता से परामर्श किए ही निस्तारण किया जा रहा है। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। नायब तहसीलदार राजेश शर्मा, बीडीओ रिजवान हुसैन, सीडीपीओ जितेन्द्र कुमार, जेई सुरेन्द्र सिंह, एसआई सुबोध कुमार पाल, वन दारोगा तेजपाल यादव, कानूनगो पुखराज सिंह, तहसीन आलम खां आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस