जागरण संवाददाता, रामपुर : परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को सरकार द्वारा अनेक सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं। ड्रेस, पुस्तकें, बेग, टाई, जूते, मौजे के अलावा बच्चों को पका-पकाया ताजा भोजन दिया जा रहा है। बच्चों को सर्दी के मौसम में ठंड न लगे। इसके लिए उन्हें निश्शुल्क स्वेटर दिए जा रहे हैं। इसके लिए शासन द्वारा 200 रुपये प्रति बालक के हिसाब से शासन द्वारा बजट जारी किया है। अक्टूबर में बच्चों को स्वेटर मिल जाना चाहिए थे, लेकिन टेंडर प्रक्रिया में विलंब के चलते अभी तक 60 प्रतिशत बच्चों को स्वेटर मिल पाएं हैं। हालांकि इस संबंध में शासन के यह भी निर्देश हैं कि पहले उन्हीं बच्चों को स्वेटर दिए जाएं, जो नियमित रूप से विद्यालय आते हैं। बावजूद इन सबके कई बच्चे ऐसे हैं, जिन्हें स्वेटर नहीं मिल पाए हैं। जिसके वे या तो पुराना या फिर बिना स्वेटर के ही स्कूल आ रहे हैं।

मंगलवार को जागरण टीम ने स्वेटर वितरण का जाएजा लिया तो पाया कि अभी सारे बच्चों को स्वेटर नहीं मिल पाए हैं। जनपद के परिषदीय विद्यालयों में डेढ़ लाख से ज्यादा बच्चे पढ़ते हैं। इनमें से अभी आधे बच्चों को स्वेटर मिल पाए हैं। कई स्कूलों में 60 व इससे अधिक व कई में सभी बच्चों को स्वेटर मिले जिन बच्चों को अभी तक स्वेटर नहीं मिले हैं, तो वे पुराने स्वेटर ही स्वेटर पहनकर विद्यालय आ रहे हैं। कई बच्चे बिना स्वेटर पहने ही आ रहे हैं। स्वेटर वितरण में देरी की वजह बनी टेंडर प्रक्रिया। विभागीय अधिकारियों का कहना है, पहले जिस फर्म को टेंडर दिया गया। उसके द्वारा उपलब्ध कराए स्वेटर सैंपल से मेल नहीं खाए। इसके चलते उस फर्म का टेंडर निरस्त कर दूसरी फर्म को दिया गया। इससे स्वेटर वितरण में थोड़ा विलंब हो गया।

शुक्रवार को जागरण टीम द्वारा स्वेटर वितरण प्रक्रिया की विद्यालय पहुंचकर पड़ताल की गई तो प्रधानाध्यापक मोती लाल ने बताया कि स्वार ब्लाक के मधुपुरा स्थित प्राथमिक विद्यालय में 125 बच्चे नामांकित हैं। इसके सापेक्ष 103 बच्चों को स्वेटर मिल गए हैं। गद्दी नगली के सभी बच्चों को स्वेटर मिल गए हैं और सभी पहनकर भी आ रहे हैं। सैदनगर ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय अजीमनगर की शिक्षिका रजिया खातून ने बताया कि 110 छात्र नामांकित हैं। इसके सापेक्ष 54 स्वेटर अभी तक मिले हैं, जिनका वितरण कर दिया गया है। जटपुरा के स्कूल में 54 के सापेक्ष 27 ही स्वेटर मिले, जिनका वितरण कर दिया गया। अजीमनगर के ही छात्र फैजान व साजिया ने बताया कि उन्हें अभी स्वेटर नहीं मिला है। इससे वे पुराने स्वेटर ही पहनकर स्कूल आ रहे हैं। देवरनिया शुमाली व अली शुमाली में भी आधे छात्रों को स्वेटर मिल पाए हैं।

बच्चों को नहीं बंटे स्वेटर

स्वार : गांव सोनकपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय में 130 बच्चे हैं, जिसमें 90 बच्चों को ही स्वेटर का वितरण हो सका है। गांव रहमतगंज के प्राथमिक विद्यालय में स्वेटर किसी भी बच्चे को वितरण नहीं हो सका है। मोहनपुर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में किसी भी बच्चे को ठिठुरती ठंड के बावजूद स्वेटर नहीं मिल सके हैं। छात्र-छात्राएं ठिठुरती ठंड में स्कूल जाने को मजबूर हैं। विभागीय अधिकारी समस्या के प्रति लापरवाह बने हैं। खंड शिक्षाधिकारी त्रिलोकीनाथ गंगवार ने बताया कि प्राथमिक विद्यालय में कुछ बच्चे स्वेटरों से रह गए हैं। पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में किसी भी बच्चे को स्वेटरों का वितरण नहीं किया। जो बच्चे रह गए हैं, स्वेटर आते ही शीघ्र उपलब्ध करा दिए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस