रामपुर : कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का असर अब धीरे-धीरे खत्म होने लगा है। अब रोजाना मरीज नहीं मिल रहे। कभी-कभी तो लगातार तीन दिन तक कोरोना शून्य मिल रहा है। जुलाई माह के 22 दिन में 11 दिन ऐसे रहे, जब जिले में कोरोना पाजिटिव रिपोर्ट शून्य रही। इनमें दो बार कोरोना शून्य की हैट्रिक तक लगी है। यह आंकड़े राहत भरे हैं, लेकिन इन आंकड़ों पर भरोसा करके लापरवाही करना खतरनाक हो सकता है। समझदारी इसी में है कि कोरोना नियमों का अब भी सख्ती से पालन किया जाए।

जिले में अप्रैल माह से कोरोना की दूसरी लहर आई थी। इसने जिले में भारी तबाही मचाई। 50 से ज्यादा लोगों की जान ले ली। एक-एक दिन में 400 से अधिक मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग की भी सांस फूल गई थी। जून माह में थोड़ी राहत मिली। पूरे माह में तीन दिन ऐसे आए, जब कोरोना के मरीज नहीं मिले। अब जुलाई माह में संक्रमण और भी कम होने लगा है। इस माह में लगातार मरीज नहीं मिल रहे और मिलते भी हैं तो एक या दो। 22 दिन में 11 दिन ऐसे भी रहे, जब एक भी कोरोना मरीज नहीं मिला। 11 जुलाई से 13 जुलाई तक एक लगातार कोरोना की हैट्रिक लगी। 19 जुलाई से लगातार कोरोना की रिपोर्ट शून्य आ रही है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजीव यादव का कहना है कि यह अच्छे संकेत हैं, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। ऐसे में लोगों को अब भी पूरी सावधानी रखने की जरूरत है। लोगों से अपील है कि वे मास्क लगाना बंद न करें। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर न जाएं। हाथों को साबुन या सैनिटाइजर से धोते रहें। जुलाई माह अब तक मिले कोरोना मरीजों के आंकड़े दिनांक मरीज

पहली जुलाई 2

दो जुलाई 0

तीन जुलाई 1

चार जुलाई 0

पांच जुलाई 1

छह जुलाई 2

सात जुलाई 1

आठ जुलाई 2

नौ जुलाई 1

10 जुलाई 2

11 जुलाई 0

12 जुलाई 0

13 जुलाई 0

14 जुलाई 2

15 जुलाई 2

16 जुलाई 0

17 जुलाई 0

18 जुलाई 1

19 जुलाई 0

20 जुलाई 0

21 जुलाई 0

22 जुलाई 0

कुल संक्रमित 17