जागरण संवाददाता, रामपुर : शहर कोतवाली क्षेत्र में बाइक पर जा रहे भाई-बहन से कुछ लोगों ने मारपीट की। विरोध करने पर चाकू से हमला कर नकदी और जेवर लूट लिए। पुलिस ने छह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मुकदमा नामजद होने पर पुलिस घटना को संदिग्ध मान रही है।

अजीमनगर थाना क्षेत्र के ग्राम परचई निवासी सुभाष सिंह अपनी बहन रीना के साथ बाइक से मुरादाबाद गया था। वहां से लौटते समय आश्रम पद्धति से गांधी समाधि बाईपास पर पब्लिक अस्पताल के पास दो बाइक पर आए छह लोगों ने उन्हें रोक लिया। उन पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया। भाई की जेब से 1500 रुपये और बहन के जेवर लूट लिए।

घायल भाई-बहन की चीख पुकार पर राहगीर आ गए। उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया। सूचना पर पुलिस और परिजन भी आ गए। घायल युवक के भाई अर्जुन सिंह की तहरीर पर पुलिस ने छह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

सभी आरोपित मुरादाबाद के थाना मूंढापांडे क्षेत्र के पदैरिया गांव के महीपाल, उसका भाई तेजपाल, पिता राजपाल, गांव के ही लोकेश, वीरपाल और कल्याण हैं। पुलिस घटना को संदिग्ध मान रही है। दरअसल, सभी आरोपित घायल रीना के ससुराली हैं। रीना की शादी 20 मई 2018 को महीपाल से हुई थी।

आरोप है कि शादी के बाद उसकी ससुरालियों से अनबन हो गई। उसने महिला थाने में ससुरालियों के खिलाफ दहेज एक्ट का मुकदमा कराया था। बाद में पति ने मूंढापांडे थाने में रीना और उसके परिवार पर जानलेवा हमले का मुकदमा कराया। इसमें रीना के भाइयों को जेल भी जाना पड़ा था। शहर कोतवाल राजकुमार शर्मा ने बताया कि दोनों पक्षों में पहले से मुकदमेबाजी चली आ रही है। अब महिला और उसके भाई ने ससुरालियों पर चाकू से हमला करने व लूटपाट करने के आरोप में मुकदमा कराया है। इस घटना की सत्यता की जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप