रामपुर : कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि मोदी सरकार कोरोना की दूसरी लहर को रोकने में पूरी तरह विफल रही है। महंगाई और बेरोजगारी से जनता परेशान है। अब अपनी विफलता को छिपाने के लिए दूसरों को बलि का बकरा बनाया जा रहा है। उत्तराखंड के एक मुख्यमंत्री को बलि का बकरा बनाया जा चुका है, जबकि योगी जी को भी बनाने की तैयारी कर ली थी। लेकिन, वह बाल-बाल बच गए।

श्री रावत सोमवार शाम हल्द्वानी से दिल्ली जाते समय कोसी नदी किनारे एक होटल में रुके। यहां कांग्रेसियों ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने मीडिया से भी बात की। कहा मोदी सरकार से जनता का मोह भंग हो चुका है। यह सरकार न तो महंगाई रोक पा रही है और न ही लोगों को रोजगार दे पा रही है। कोरोना संक्रमण से जनता को बहुत परेशानी हुई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी बार-बार सरकार को चेताते रहे, लेकिन इसके बाद भी कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के पर्याप्त इंतजाम नहीं किए गए। सरकार की नाकामी को जनता भी अच्छी तरह समझ गई है। अब इस सरकार को बदलना चाहती है। उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि काग्रेस के दरवाजे सभी के लिए खुले हैं। भाजपा को रोकने के लिए दूसरे दलों का सहयोग किया जाएगा। इस मौके पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य मुतीउर्रहमान खां बब्लू, शहर अध्यक्ष मामून शाह खां, बाबर अली खां, प्रवीण कुमार शर्मा उर्फ निक्कू पंडित, शारिब खां, जकी खान, लईक पाशा, वकील अहमद चौधरी, अय्यूब अली, आमिर कुरैशी आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran