रामपुर (जेएनएन)। कभी जिनकी चोरी भैंस को खोजने में उत्तर प्रदेश पुलिस का बड़ा अमला लग गया था, अब वह आजम खां गाय पालने से डर रहे हैं। समाजवादी पार्टी के फायरब्रांड नेता तथा पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां गाय पालने से डर गए हैं। 

आजम खां को करीब डेढ़ वर्ष पहले स्वामी अधिक्षाजानंद महाराज ने एक गाय और एक बछिया दान में दी थी, लेकिन राजस्थान में गो पालक मुस्लिम की गो रक्षकों के हत्या करने के बाद से आजम खां डर गए हैं। उन्होंने अब स्वामी को गाय और बछिया वापस कर दी है। 

यह भी पढ़ें: मोगली गर्ल को अपनाने, समझाने, सिखाने और दुलराने के लिए बढ़े हाथ

डर की वजह से उन्होंने किसी मुस्लिम को भेजने के बजाय पूर्व जिलाध्यक्ष ओमेंद्र चौहान को गाय लेकर भेजा है। आजम खां ने स्वामी को एक पत्र भी भेजा है, जिसमें माफी मांगते हुए कहा है कि राजस्थान में हुए दिल दहला देने वाले हादसे से हमारे जैसे कमजोर लोगों के लिए जिंदगी और मौत का सवाल खड़ा हो गया है।

यह भी पढ़ें: बुंदेलखंड की भलाई के लिए तालाब जोड़ों और राज्य तोड़ो योजना पर काम

उन्होंने कहा कि ग्राम पसियापुरा शुमाली में हुमारा 20 वर्ष पुराना भैंस का तबेला है, जहां पशुओं को कुदरत की पहचान मानकर पाला जाता है। ऐसे में यदि गाय और बछिया के साथ कुछ अनहोनी हो जाती या किसी षडय़ंत्र की वजह से गाय को कुछ नुकसान पहुंचा तो मुस्लिम और इंसानियत के दुश्मनों को बेगुनाहों के कत्लेआम का बहाना मिल जाएगा। आजम खां ने अब बांग्लादेश को भारत की ओर से दी जा रही मदद पर भी सवाल उठाए।

तस्वीरों में देखें-बहराइच जिला अस्पताल में मोगली की दिनचर्या

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस