जागरण संवाददाता, बिलासपुर : शनिवार को अयोध्या फैसले का बाजार पर कोई असर दिखाई नहीं दिया। लोग रोजाना की तरह बाजार में खरीदारी करते हुए दिखाई दिए। शनिवार सवेरे साढ़े दस बजे सुप्रीम कोर्ट द्वारा चर्चित फैसले को लेकर फैसला सुनाया गया। फैसले का असर बाजार पर बिल्कुल दिखाई नहीं दिया। लोग रोजाना की तरह बाजारों में सामान की खरीदारी करते हुए दिखाई दिए। पुरानी तहसील मार्ग, सब्जी मंडी मार्ग, सिनेमा रोड, माटखेड़ा मार्ग, कैनाल मार्ग, पोस्ट आफिस मार्ग, केमरी तिराहा, केमरी मार्ग, अहरो तिराहा, अहरो मार्ग समेत रामपुर-नैनीताल हाईवे पर दिनभर लोगों की खासी भीड़भाड़ रही। इसी क्रम में शनिवार की साप्ताहिक पैंठ में भी फैसले का असर दिखाई नहीं दिया। बाजारों में शांति व्यवस्था को लेकर कोतवाल माधो सिंह बिष्ट समेत अन्य अधिकारी दिनभर भ्रमण करते रहे। इसी क्रम में थाना केमरी, भोट और खजुरिया में फैसले का नहीं दिखा कोई असर। रोजाना की तरह ग्रामीण बाजारों में खरीदारी करते हुए दिखाई दिए।

टांडा : अयोध्या फैसला आने से पहले ही पुलिस प्रशासन ने हालात को ध्यान में रखते हुए पहले ही पूरी तैयारी कर ली थी। सुबह से ही पुलिस कर्मी चौराहों व गांव में तैनात कर दिए थे। हल्का दारोगाओं को भी विशेष एहतियात बरतने का आदेश था। इस बीच एसपी अजय पाल शर्मा ने भी सुबह दस बजे कोतवाली पहुंच कर पहले तो सेक्टर प्रभारियों की तैनाती में देरी पर नाराजगी जताई। उन्होंने काउंटर पर बैठे मुंशी से गलत मैसेज चलाने को लेकर जानकारी की। बाद में पता लगा मैसेज रामपुर से ही गलत पास किया गया था। एसपी ने वायरलेस सेट पर ही जमकर हड़काया। इस पर मैसेज पास करने वाले ने गलती की माफी मांगी। उन्होंने कोतवाली प्रभारी दुर्गा सिंह तथा फोर्स के साथ मुख्यमार्ग पर सदर बाजार में भ्रमण कर लोगों से शांति बनाने की अपील की। शनिवार को सुबह से ही जिस प्रकार पुलिस व प्रशासन ने अयोध्या के फैसले को लेकर जनता में डर व भय का माहौल बनाया हुआ था। नगर की जनता में ऐसा कुछ भी नहीं था। ऐसा लग रहा था जैसे जनता को पहले से ही आने वाले फैसले का आभास हो चुका था। आम दिनों की तरह सुबह से ही चहल पहल दिखाई दी। सुबह को रोजाना की तरह मार्केट खुला और धीरे-धीरे बाजार में खरीदारों की भीड़ बढ़नी शुरू हो गई। सड़क किनारे दुकानों के सामने बाइक खड़ी होने से कई बार जाम की स्थिति भी बनी। एसडीएम संगम लाल यादव, तहसीलदार रणविजय सिंह, नायब तहसीलदार अमर पाल सिंह ने भी मुख्यमार्ग पर अतिक्रमण हटवाने के साथ ही लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। दोपहर में कोतवाली प्रभारी दुर्गा सिंह व पुलिस के साथ गाड़ियों में नगर के गणमान्य लोग, जिसमें पालिकाध्यक्ष पति मकसूद लाला, प्रताप सिंह चौहान, हाजी जमील, चन्द्रपाल सिंह सैनी, करन सिंह सैनी, साबिर अली आदि ने क्षेत्र के गांव का भ्रमण कर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। चौराहों पर सन्नाटा छाया

मिलक : शनिवार को देश के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या पर दिए ऐतिहासिक फैसले के बाद नगर में तनावपूर्ण शांति बनी रही है। सुबह साढ़े दस बजे लोग अपने-अपने घरों में कैद हो गए और टीवी के आगे जाकर बैठ गए। टीवी पर नजरें गढ़ा कर, फैसला आने का इन्तजार करने लगे। लोगों में फैसले को लेकर उत्सुकता इस कदर देखी जा सकती थी कि नगर की गलियां और प्रमुख चौराहों पर सन्नाटा पसर गया। फैसला आने के बाद भी गलियों और चौराहों पर लोगों की आवाजाही बेहद नाम मात्र की रही। पूरे दिन पुलिस फोर्स नगर की गलियों, चौराहों और क्षेत्र के गांवों को जाने वाले संपर्क मार्गों पर चहल-कदमी करती रही। क्षेत्र के किसी भी हिस्से से किसी अनहोनी की सूचना सुनने को नहीं मिली। आम दिनों की तरह गावों ग्रामीण क्षेत्रों से लोग कस्बे आए और खरीदारी करके वापस अपने घर लौट गए। स्कूलों-कालेजों और सरकारी संस्थानों की छुट्टी होने के कारण भीड़-भाड़ कम रही। नगर के बीच से होकर गुजरने वाले हाईवे पर वाहनों की आवाजाही कम संख्या में देखने को मिली। नगर के प्रमुख तीनबत्ती चौराहे पर स्थित होटल में चाय की चुस्कियां लेते हुए लोग फैसले को लेकर आपस में चर्चा करते नजर आए। हर जुबां पर अयोध्या को लेकर एक दूसरे को वाद-विवाद करता देख अपनी-अपनी प्रतिक्रिया देते रहे। अधिकतर लोग फैसले से संतुष्ट दिखाई दिए और चीफ जस्टिस की प्रशंसा की।लोगों का कहना था कि बेहद कम समय में चीफ जस्टिस द्वारा मुकदमे की सुनवाई कर फैसला देना अपने आप में एक इतिहास है।

शाहबाद : अयोध्या मामले में फैसले को लेकर सवेरे से ही पुलिस की चौकसी दिखाई दी। नगर के प्रत्येक चौराहे पर पुलिस लगी दिखाई दी। दूसरी ओर नगर का बाजार रोजमर्रा की तरह खुला। डेली दिनचर्या के साथ-साथ लोगों का ध्यान अयोध्या फैसले पर भी रहा। लोग सवेरे से ही टीवी देखते नजर आए। साढे़ 11 बजे तक फैसला आने के बाद सीओ ब्रह्मापाल सिंह के साथ हिदू-मुस्लिम समाज के लोगों ने नगर में घूमकर हिन्दू-मुस्लिम एकता का संदेश दिया। इस दौरान दोनों समाज के दर्जनों लोग साथ रहे।

लोगों ने फैसले का दिल से किया स्वागत

बिलासपुर : शनिवार को देश की सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या पर फैसला सुनाने पर सभी लोगों ने फैसले का खुले दिल से स्वागत किया। कहा कि फैसला स्वागत योग्य है। इसे सभी को मानना चाहिए। वहीं दूसरी ओर क्षेत्र में शांति व्यवस्था का माहौल बना हुआ है। प्रशासन ने लोगों से अपील की कि वे किसी अफवाह पर कतई ध्यान न दें। शनिवार सवेरे साढ़े दस बजे सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश द्वारा अयोध्या पर अपना फैसला सुनाने पर क्षेत्र के लोगों ने फैसले का स्वागत किया। दूसरी ओर प्रशासन द्वारा सुरक्षा-व्यवस्था के मद्देनजर अधिकारियों ने दिनभर क्षेत्र में भ्रमण किया। उपजिलाधिकारी डॉ. राजेश कुमार, पुलिस क्षेत्राधिकारी जयराम, तहसीलदार महेंद्र बहादुर सिंह, नायब तहसीलदार शरद सिंह, कोतवाल माधो सिंह बिष्ट ने पुलिस बल के साथ क्षेत्र के विभिन्न मुहल्लों में भ्रमण कर सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लिया। कोतवाल के मुताबिक मुहल्ला कायस्थान स्थित जामा मस्जिद, काली माता मंदिर, पुरानी रामलीला मैदान, शीरी मियां, टांडा हुरमतनगर आदि मुहल्लों में पुलिस बल के तैनाती गई है। इसी क्रम में मुख्य चौराहा, केमरी तिराहा, अहरो तिराहा, माटखेड़ा मार्ग, केमरी मार्ग पर सुरक्षा के मद्देनजर रखकर पुलिस बल को तैनात किया गया। खजुरिया थानाध्यक्ष पवन कुमार सिंह के मुताबिक क्षेत्र में शांति व्यवस्था का माहौल बना हुआ है। उन्होंने पुलिस कर्मियों के साथ पैदल फ्लैगमार्च कर क्षेत्र का जायजा लिया। गांव अहरो, टेहरी ख्वाजा, महतोष, बमनपुरा, रम्पुरा बुजुर्ग, गोधी, धावनी बुजुर्ग, बेगमाबाद आदि गांवों में भ्रमण किया गया। इसी क्रम में भोट थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने पुलिस कर्मियों के क्षेत्र में भ्रमण कर लोगों से अपील की। वे किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। वहीं दूसरी ओर केमरी क्षेत्र में पुलिस क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार पांडे, अधिशासी अधिकारी देवेश यादव एवं थानाध्यक्ष मनोज कुमार ने पुलिस कर्मियों के क्षेत्र में भ्रमण कर सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने मुहल्ला चमारान, सिघाड़ियान, तकिया, मिलक-बिलासपुर मार्ग, माजुल्लानगर, इमामबाड़ा आदि मुहल्लों में फ्लैगमार्च कर क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति का जायजा लिया। उपजिलाधिकारी डॉ राजेश कुमार के मुताबिक क्षेत्र में पूरी तरह से शांति व्यवस्था का माहौल बना हुआ है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप