बिलासपुर : हजरत मेंहदी मियां का एक दिवसीय सालाना उर्स बड़ी धूमधाम से मनाया गया। जायरीनों ने मजार पर चादरपोशी कर मुल्क की तरक्की के लिए दुआएं मांगी। इस दौरान लंगर तकसीम किया गया।

क्षेत्र के खौंदलपुर स्थित सैय्यद मेंहदी मियां की मजार पर सालाना उर्स के चलते बुधवार को कुलशरीफ हुआ, जिसमें लोगों बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। साथ ही यहां पर तकरीर का आयोजन किया गया। जिसमें हजरत सैय्यद सलीम मियां ने तकरीर में कहा कि औलिया-ए-अल्लाह की सोहबत में बैठने वाला खुशनसीब होता है। उनकी सोहबत में इंसान बुराइयों से पाक हो जाता है। हजरत सैय्यद मेंहदी मियां अल्लाह के नेक बंदे थे। उन्होंने अपनी सारी जिदगी इंसानियत की भलाई और खुदा की इबादत में सर्फ कर दी। यही वजह है कि उनके नजरे करम से हजारों लोग फैजयाब हुए हैं। उनके चाहने वालों ने मजार पर पहुंच कर चादरपोशी की। हजरत नईम मियां साबरी ने की। इसके पश्चात सैय्यद सलीम मियां नेमुल्क एवं कौम की तरक्की के लिए दुआ की।

सैय्यद जुबैर मियां, वसीम मलिक, अच्छन खां साबरी, मोअज्जम खां साबरी, नईम साबरी, शुऐब खां, जाबिर खां उर्फ गुड्डू आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran