रामपुर: मिलक कोतवाली के ¨सगरा गांव में अपहृत युवती की बरामदगी न होने से ¨हदू संगठनों में उबाल है। मामले को लेकर सोमवार को जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से बरामगदी की मांग की जाएगी। विश्व ¨हदू महासंघ के कार्यालय पर हुई बैठक में वक्ताओं ने कहा कि ¨सगरा गांव में दूसरे वर्ग के लोग हमला बोल युवती को उठा ले गए। उसकी छोटी बहन की हत्या कर दी और पिता को गंभीर रूप से घायल कर दिया पर पुलिस मामले में अभी तक न तो युवती को बरामद कर सकी है और न ही आरोपी को गिरफ्तार कर रही है जिससे लोगों में रोष बढ़ता जा रहा है। पुलिस सत्ता पक्ष के दबाव में आरोपियों को सरंक्षण दे रही है। पुलिस ने मामले में इधर-उधर के लोगों की गिरफ्तारी की है ताकि लोगों कों गुमराह किया जा सके। तय किया गया है कि यदि जल्द युवती की बरामगदी नहीं हुई तो सड़कों पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा। इससे स्थिति बिगड़ती है तो उसके लिए जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा। मामला अब बर्दाश्त से बाहर होता जा रहा है। पीड़ित परिवार को अभी तक कोई सरकारी सहायता भी नहीं मिली है। तय किया गया कि सोमवार को डीएम और एसपी को ज्ञापन देकर बरामदगी की मांग की जाएगी। बैठक में रोशन लाल, सूरज प्रकाश नारंग, वीर ¨सह राठौर, धर्मेंद्र गुप्ता, अविनाश तपन, संजय ¨सह, सौरभ हनी, राज कुमार वर्मा, ठाकुर दास एडवोकेट, राजीव गुप्ता एडवोकेट, खूब ¨सह, सौरभ सक्सेना, गजराम ¨सह, लक्ष्मी शर्मा, सुमन शर्मा, मीना पाल, रतिपाल, मनोहर लाल सैनी आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता जिला प्रमुख संजय गुप्ता और संचालन जिला महासचिव गनेशी लाल वाष्र्णेय ने किया।

सीओ से जवाब-तलब

रामपुर: पुलिस अधीक्षक संजीव त्यागी ने ¨सगरा प्रकरण में युवती की बरामगदी न होने पर क्षेत्राधिकारी मिलक से जवाब-तलब किया है। युवती की बरामदगी को लेकर विभिन्न संगठन आंदोलनरत है। मिलक में जाम भी लगाया जा चुका है।