रायबरेली : बुधवार को जिले में झमाझम बारिश हुई। इस कारण नगरीय इलाकों में जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गई। मुख्य सड़कों पर भी पानी भर जाने के कारण आवागमन प्रभावित रहा। हालांकि, धान व गेहूं की फसलों को लाभ पहुंचा, जिससे किसानों के चेहरे खिल गए।

जिला मुख्यालय स्थित जवाहर विहार कालोनी, सोनिया नगर, इंदिरा नगर, सर्वोदय नगर, आचार्य द्विवेदी नगर, किला बाजार, खाली सहाट, प्रकाश नगर, राना नगर, कैलाशपुरी, गोरा बाजार आदि मुहल्लों में कई लोगों के घरों में गंदा पानी घुस गया। मुहल्लों को मुख्य मार्ग से जोड़ने वाली सड़कें भी जलमग्न हो गईं। कचहरी और जेल रोड पर जलभराव के कारण पैदल आवागमन करने वालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सिविल लाइंस चौराहा और राजघाट पुल के पास पानी भरा रहा। लालगंज के घोसियाना और मेन रोड, डलमऊ और ऊंचाहार के फड़, नूरशाह तकिया, भीतरी, फाटक भीतर और मजहरगंज में जलभराव होने से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। बछरावां में सुबह से ही घने बादल छाए नजर आए, लेकिन देर शाम तक बारिश नहीं हुई। महराजगंज में भी सिर्फ बूंदाबांदी हुई।

धान की फसल के लिए फायदेमंद

चंद्रशेखर आजाद कृषि विवि कानपुर के कृषि व मौसम विज्ञानी एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि अभी तीन दिन तक इसी तरह का मौसम रहने की संभावना है। धान के लिए ये बारिश काफी फायदेमंद है। दूसरी फसलों के लिए भी लाभकारी है।

गिरा बरगद का पेड़, युवक घायल

राही : पूरे पचई मजरे भदोखर में राम सुमेर और राम मिलन के घर पर बुधवार तड़के बरगद का पेड़ गिर गया। दोनों के मकान क्षतिग्रस्त हो गए। हादसे में रामसुमेर का बेटा महेश घायल हो गया। सीएचसी में प्रारंभिक उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। गनीमत रही कि घर पर मौजूद बाकी लोग बाल-बाल बच गए।

Edited By: Jagran