रायबरेली : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा रविवार को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गई। पहली पाली में निर्धारित समय से कई अभ्यर्थी देरी से पहुंचे। प्रवेश नहीं मिलने पर हंगामा किया। मौजूद पुलिस कर्मियों ने शांत कराया। दोनों पालियों में 2,477 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। नकलविहीन परीक्षा होने के बाद अफसरों ने राहत की सांस ली।

जिले में यूपी टीईटी के लिए बने 26 केंद्रों पर 26,003 परीक्षार्थियों को शामिल होना था। सुबह पहली पाली में कई केंद्रों पर अभ्यर्थी देरी तो कुछ प्रवेश पत्र लेकर नहीं पहुंचे। इसके चलते उन्हें प्रवेश नहीं मिल सका। एमजीआइसी में परीक्षा से वंचित किए जाने पर अभ्यर्थियों ने हंगामा किया। हालांकि मौजूद पुलिस कर्मियों ने समझा-बुझाकर शांत कराया। इसी तरह न्यू स्टैंडर्ड पब्लिक स्कूल, आचार्य द्विवेदी इंटर कालेज, एफजी कालेज आदि केंद्रों पर भी काफी संख्या में अभ्यर्थी देरी से पहुंचे। इसके कारण उन्हें प्रवेश नहीं मिल सका। जिला विद्यालय निरीक्षक ओमकार राणा ने बताया कि परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गई। शिक्षक पात्रता परीक्षा पर एक नजर

26 - केंद्र

26003 - कुल अभ्यर्थी

23526 - उपस्थिति

2477- अनुपस्थिति

प्रथम पाली

26 - परीक्षा केंद्र

15470 - कुल अभ्यर्थी

14074 - उपस्थिति

1396 - अनुपस्थिति द्वितीय पाली

20 - केंद्र

10533- कुल अभ्यर्थी

9452 - उपस्थिति

1081 - अनुपस्थिति हर चौराहे पर पुलिस सतर्क, हटवाया जाम

अभ्यर्थियों को किसी तरह की कोई दिक्कत न हो इसके लिए हर चौराहे पर पुलिस कर्मी मुस्तैद रहे। द्वितीय पाली में शाम को परीक्षा संपन्न होने के बाद कई जगह जाम जैसे हालात बन गए। कोतवाल राघवन कुमार सिंह पुलिसकर्मियों से हटवाया। इस दौरान रतापुर चौराहा, त्रिपुला चौराहा, कचहरी रोड समेत कई जगहों पर जाम लगने से लोगों को कुछ देर के लिए परेशानी का भी सामना करना पड़ा।

Edited By: Jagran