रायबरेली : आभूषण खरीदने के बहाने दुकान पर आया युवक सोने की ज्वैलरी से भरा डिब्बा लेकर फरार हो गया। दिनदहाड़े छिनैती की वारदात से सर्राफा बाजार में अफरातफरी मच गई। पुलिस सीसी फुटेज के जरिए उचक्कों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

मूलरूप से सरांय बैरिहाखेड़ा गांव निवासी सत्यदेव सोनी वर्तमान में कोतवाली के निकट पौशाला मजरे कोरिहरा में रहते हैं। उनकी महेश नगर में मनोहर लक्ष्मी ज्वैलर्स के नाम से आभूषण की दुकान है। उनकी दुकान पर गुरुवार की दोपहर कनकापुर निवासी नीरजा देवी अपने भाई नागेंद्र के साथ आई और आभूषण से भरा डिब्बा उन्हें दे दिया। कहा कि वह बैंक में लाकर लेने के लिए जा रही हैं, वापसी में आभूषण ले लेंगी। नीरजा के सामने ही सत्यदेव की दुकान पर दो युवक मौजूद थे, जिन्होंने सोने की बाली खरीदी और चले गए। सत्यदेव का आरोप है कि दोपहर लगभग एक बजे उन्हीं में से एक युवक उनकी दुकान पर आया और उसका साथी दुकान से कुछ दूरी पर बाइक लेकर खड़ा हो गया। दुकान में आए युवक ने उनसे और आभूषण खरीदने के लिए डिजाइन दिखाने के लिए कहा। सत्यदेव ने नीरजा द्वारा दिए सोने के आभूषणों से भरा डिब्बा निकाला तो युवक उसके हाथ से डिब्बा ले कर अपने साथी के साथ फरार हो गया। सत्यदेव की सूचना पर कोतवाल अरुण सिंह, अपराध निरीक्षक कमलेश कुमार व चौकी इंचार्ज महेश यादव मौके पर पहुंचे और एक मोबाइल की दुकान पर लगे सीसी कैमरे से फुटेज से वारदात की जांच शुरू की। सत्यदेव ने बताया कि डिब्बे में सोने का हार, लाकेट, जंजीर आदि मिलाकर 86 ग्राम से अधिक वजन के आभूषण थे, जिनकी कीमत लगभग चार लाख रुपये से अधिक है।

व्यापार मंडल ने की खुलासे की मांग

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष रोहित सोनी, नगर अध्यक्ष विवेक शर्मा छिनैती की वारदात के बाद कोतवाली पहुंचे। उन्होंने क्षेत्राधिकारी राघवेंद्र चतुर्वेदी व कोतवाल अरुण सिंह से जल्द वारदात का खुलासा करने की मांग की।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप