पार्किंग की जगह नहीं, जाम से जूझ रहे शहरवासी

रायबरेली : शहर में पार्किंग के लिए जगह नहीं मिल रही है। सड़क की पटरियों पर अतिक्रमण हो जाता है। नतीजन शहरवासी दिन भर जाम की समस्या से जूझते रहते हैं। पार्किंग के लिए जगह खोजने को लेकर न तो प्रशासनिक अमला संजीदा है और न ही नगर पालिका। इसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। कचेहरी रोड पर गुरुवार को दोपहर 12 बजे के बाद से वाहनों की रफ्तार मंद पड़ गई। जैन पेट्रोलपंप के पास जाम लगा तो सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। सुपर मार्केट और जिला अस्पताल की ओर से आने वाले कई लोग तो वाहन मोड़ कर दूसरे रास्तों से निकल गए। जिला अस्पताल से महिला अस्पताल जाने वाले मार्ग की हालत भी कमोबेश ऐसी ही नजर आई। जिला पुरुष अस्पताल के मुख्य गेट पर ई-रिक्शा चालकों का जमावड़ा लगा मिला। सड़क की दोनों पटरियों पर दुकानदारों ने तो अतिक्रमण किया ही था, वाहन भी बेतरतीब खड़े मिले। इमरजेंसी गेट के पास सड़क की पटरी पर निजी एंबुलेंस खड़ी मिलीं। इसी के चलते महिला अस्पताल आने वाले लोगों को अपने वाहन गेट के ठीक सामने खड़े करने पड़े। आलम ये था कि सड़क पर ही एंबुलेंस खड़ी करके मरीजों को उतारा जा रहा था। पुरुष अस्पताल में तो पार्किंग की व्यवस्था है, लेकिन महिला अस्पताल में इसकी व्यवस्था अब तक नहीं की जा सकी है। नहीं मिल रही पार्किंग की जगह शहर में वाहनों की पार्किंग के लिए कई वर्षों से जगह तलाशी जा रही है, जो अब तक पूरी नहीं हो सकी है। दीवानी न्यायालय चौराहे पर ही बस अड्डा है। बसें बस स्टेशन से लेकर चारों मार्गों पर जगह घेरे खड़ी रहती हैं। सुपर मार्केट में भी वाहनों को खड़ा करने के लिए पार्किंग की जगह नहीं मिल रही है। पार्किंग के लिए जगह तलाशी जा रही है। यातायात में सीमित मैन पावर है। शहर में जाम न लगने पाए, इसके लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। वंदना सिंह, क्षेत्राधिकारी यातायात

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट