रायबरेली : लंबे अर्से बाद स्थानीय सांसद सोनिया गांधी अपनों के बीच मंगलवार शाम पहुंचीं। फुर्सतगंज हवाई अड्डे से वे सीधे शहर से करीब तीन किमी दूर स्थित भुएमऊ गेस्ट हाउस आई। सार्वजनिक कार्यक्रम से दूर रहते हुए उन्होंने वहीं से आइएमए (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) भवन का उद्घाटन किया। उसके बाद संगठन व पार्टी नेताओं से क्रमवार मिलती गईं। इसी बीच करीब सात बजे सपा विधायक डा मनोज पांडेय भी गेस्ट हाउस के अंदर गए। सांसद से मिलकर वे वापस लौट गए। इसको लेकर कयासबाजी का दौर शुरू हो गया।

एमएलसी परिवार की हालिया राजनीतिक गतिविधियों को लेकर गेस्ट हाउस के भीतर सबसे ज्यादा चर्चा परिचर्चा होती रही। संगठन के पदाधिकारियों ने इस बारे में सोनिया को भी जानकारी दी। हालांकि, उनके कांग्रेस छोड़ने और भाजपा में शामिल होने को लेकर सांसद ने कोई टिप्पणी नहीं की। इसके उलट, जिला कांग्रेस कमेटी की बैठक के दौरान सबसे ज्यादा इसी सियासी उतार-चढ़ाव पर नेता बातें करते रहे। सोनिया ने जाना अपनों का हाल

सांसद से मिलने सदर विधायक अदिति ¨सह, पूर्व विधायक अजय पाल ¨सह, अशोक ¨सह, शिवबालक पासी व पूर्व मंत्री सुनीता ¨सह चौहान भुएमऊ गेस्ट हाउस पहुंचीं। जिला कांग्रेस कमेटी से अध्यक्ष वीके शुक्ल, निर्मल शुक्ल, विजय शंकर अग्निहोत्री समेत कई पदाधिकारियों ने उनसे मुलाकात की। वहीं, प्रफ शनल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष विनय द्विवेदी भी नवगठित संगठन के साथ सांसद से मिले। सभी ने सोनिया का तो उन्होंने भी संगठन के पदाधिकारियों का कुशलक्षेम पूछा। सामाजिक काम करिये, हमारा सहयोग मिलता रहेगा

आइएमए भवन के उद्घाटन के दौरान सांसद आइएमए के पदाधिकारियों से रूबरू हुई। सचिव डा. मनीष ¨सह ने आइएमए द्वारा किए सामाजिक कार्यों के बारे में उन्हें बताया। सांसद ने उन्हें आश्वस्त किया कि सामाजिक कार्यो को आप करते रहिए। हमारी तरफ से जो भी सहयोग चाहिए होगा, दिया जाएगा। मैं तो न्योता देने गया था : मनोज

भुएमऊ गेस्ट हाउस में ऊंचाहार से सपा विधायक डा. मनोज पांडेय भी सांसद सोनिया गांधी से मिलने पहुंच गए। उनको वहां देख नई-नई बातें शुरू हो गईं। हालांकि, विधायक ने बताया कि वे अपने नए घर के गृह प्रवेश कार्यक्रम का न्योता देने सांसद के पास गए थे। चूंकि एक तरफ एमएलसी सपरिवार कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। ऐसे में सपा विधायक मनोज पांडेय का सांसद सोनिया गांधी से मिलना राजनीतिक चर्चाओं को बल दे रहा है।

By Jagran