रायबरेली : केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी यहां आई तो सांसद सोनिया गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा पर तंज कसने से नहीं चूकीं। जिले के विकास के मसले पर उन्होंने पूर्ववर्ती सरकारों को घेरा। कहा कि भाजपा सरकार में रायबरेली के पांच लाख परिवारों को शौचालय दिया गया। 1978 से किराये के भवन में चल रही डिस्पेंसरी को बिल्डिग दी गई। जो टायलेट नहीं बना पाए, वो यूपी बनाने की बात कहते हैं।

केंद्रीय मंत्री शनिवार को जिला मुख्यालय के प्रगतिपुरम में ईएसआइ डिस्पेंसरी एवं शाखा कार्यालय का उद्घाटन करने के बाद समारोह को संबोधित कर रहीं थीं। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह असम से राज्य सभा सदस्य थे। श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री रामेश्वर तेली भी वहीं से सदस्य हैं। इनके यहां आने पर किराए के भवन में चल रही डिस्पेंसरी को अपनी बिल्डिग मिल गई। स्मृति ने कहा कि 55 वर्षो तक शासन करने वाले यहां के लोगों को शौचालय तक नहीं दे सके। कोरोना काल में यहां पांच लाख परिवारों को 19 महीने तक निश्शुल्क राशन उपलब्ध कराया गया। देश में 120 करोड़ वैक्सीन उपलब्ध कराने का इतिहास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रचा। वैक्सीन निश्शुल्क उपलब्ध कराकर उन्होंने मानवता के प्रति समर्पित सरकार का प्रतिबिब दिखाया। इस जिले में भी 20 लाख लोगों को कोरोनारोधी टीका लगाया जा चुका है। कांग्रेस की सरकार में यहां की जनता को सिर्फ छला गया।

केंद्रीय राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने भी मंच से भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। ई-श्रम कार्ड बनवाने के लिए लोगों से अपील की। उसके फायदे गिनाए। श्रम विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यो के बारे में भी विस्तार से बताया। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने कहा कि अमेठी हो या रायबरेली, बस एक ही नाम लिया जाता है और वो है दीदी। उनका इशारा स्मृति इरानी की ओर था।

Edited By: Jagran