रायबरेली (जेएनएन)। हरचंदपुर रेलवे स्टेशन से  दो सौ मीटर दूर न्यू फरक्का एक्सप्रेस बुधवार सुबह छह बजकर चार मिनट पर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे में इंजन और उसकी आठ बोगियां बेपटरी होकर इधर-उधर जा गिरीं। हादसे में पांच यात्रियों की मौत हो गई, जबकि करीब 42 लोग घायल हो गए। घायलों को स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र और जिला अस्पताल के साथ लखनऊ स्थित संजय गांधी पीजीआइ और ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। पीजीआइ लाए गए सुगंध की हालत गंभीर है। सुगंध के माता पिता की हादसे में मौत हो गई है। घटना के पीछे रेलवे की लापरवाही सामने आ रही है। सीआरबी ने जांच के आदेश दिए हैं। जांच रेल संरक्षा आयुक्त करेंगे।

14003 न्यू फरक्का एक्सप्रेस मालदा टाउन से नई दिल्ली जा रही थी। ट्रेन रायबरेली से छूटी तो हरचंदपुर स्टेशन से चार किलोमीटर पहले कॉशन के कारण लोको पायलट रामजी चौरसिया ने ट्रेन की गति को 30 किलोमीटर प्रतिघंटा कर लिया। यहां से ट्रेन स्पीड पकड़ रही थी कि ड्राइवर को हरचंदपुर स्टेशन का आउटर सिग्नल मेन लाइन पर ग्रीन मिला। मेन लाइन 110 किलोमीटर प्रतिघंटे की गति के लिए फिट थी। लिहाजा, ड्राइवर ने स्पीड बढ़ाना शुरू किया। हरचंदपुर से करीब 200 मीटर दूर होम सिग्नल के पास प्वाइंट से गुजरते समय उसकी सेटिंग मेन की जगह लूप लाइन हो गई। इस कारण ट्रेन लूप लाइन पर दौड़ पड़ी। यह लूप लाइन केवल 30 किलोमीटर प्रतिघंटे के लिए ही फिट थी। इस वक्त ट्रेन की स्पीड करीब 80 किलोमीटर प्रतिघंटा थी। गलत पटरी पर दो सौ मीटर दौडऩे के बाद पहले इंजन उतरा फिर उसके पीछे की जनरल बोगी 90 डिग्री के कोण में पलटकर इंजन से सट गई। दो अन्य जनरल बोगी भी पटरी से उतरकर छिटक गईं। स्लीपर बोगी एस-11 और एस-10 के पहिए भी दूर जा गिरे, जबकि एस-नौ से और एस-आठ भी प्वाइंट तोड़ते हुए लूप लाइन पर आ गईं। इससे लूप लाइन की पुलिया भी क्षतिग्रस्त हो गई। कुछ लोग पलट चुकी बोगी के नीचे भी दबे थे। पुलिस और राहत दल के कर्मचारियों ने स्थानीय लोगों की मदद से सभी को बाहर निकाला।

रेलवे ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर: 

  • 05412-254145, 027-73677
  • 0612-2202290
  • 0612-2202291
  • 0612-2202292

Rly Phone No

  • 025-83288

शंभू (25) पुत्र मोहन, सुनीता (52) पत्नी मोहन, रीता (एक) पुत्री मोहन निवासीगण गड़ौरा खडग़पुर, मुंगेर (बिहार), अजय कुर्री (45) पुत्र घुतका नंद कुर्री निवासी भगजामरा, किशनगंज (बिहार) और दिनेश (सात) पुत्र रसिकलाल मांझी निवासी लक्ष्मीपुर, हवेली, मुंगेर (बिहार) की मौत हो गई। एक बच्चे और अधेड़ का शव बोगी के नीचे दबे होने के चलते एनडीआरएफ की टीम को उनको निकालने के लिए तीन घंटे मशक्कत करनी पड़ी।


#SpotVisuals from Raebareli: 5 died, several injured after 6 coaches of New Farakka Express train derailed 50 m from Harchandpur railway station this morning. NDRF teams from Lucknow and Varanasi have reached the spot. pic.twitter.com/aK1jiAuReV

 

मृतक आश्रितों को मिलेगा मुआवजा

हादसे के बाद केंद्र व राज्य सरकार ने पीडि़तों को मुआवजा देने की घोषणा की है। रेलवे की ओर से मृतक आश्रितों को पांच-पांच लाख, गंभीर घायलों को एक लाख और मामूली घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा चेयरमैन रेलवे बोर्ड अश्विनी लोहानी ने की है। प्रदेश सरकार ने भी मृतकों के परिवारीजन को दो-दो लाख रुपये देने की बात कही है। राज्य सरकार की तरफ से गंभीर रूप से घायलों को भी 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे।

मौका देखने आए अफसरान 

हादसे के बाद डीएम संजय खत्री, एसपी सुजाता सिंह और रेलवे के कई अफसर सुबह से ही घटनास्थल पर डटे रहे। जबकि, कमिश्नर अनिल गर्ग, पुलिस महानिरीक्षक सुजीत पांडेय, पुलिस महानिरीक्षक रेलवे विजय प्रकाश, मंडल रेल प्रबंधक लखनऊ मंडल सतीश कुमार ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया। इसके अलावा कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी और स्वामी प्रसाद मौर्या भी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य घटनास्थाल का जायजा लेने पहुंचे।लखनऊ ट्रामा सेंटर में भर्ती घायलों का हाल लेने खादी ग्रामोद्योग व लधु उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी पहुंचे। 

 

Posted By: Ashish Mishra