रायबरेली : जनपद में बकरीद परंपरागत तरीके से मनाई गई। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए मस्जिदों व घरों में नमाज अदा की गई। कोरोना से निजात के लिए दुआ करने के साथ ही भाईचारे का पैगाम दिया गया।

कोरोना महामारी के कारण मस्जिदों में 50 से अधिक लोगों के होने पर पाबंदी थी। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने सभी से घर में नमाज अदा करने की अपील थी। शहर के कहारों का अड्डा स्थित टीला मस्जिद समेत अन्य मस्जिदों में गाइडलाइन का पालन कराते हुए नमाज अदा की गई। पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने शहर समेत सलोन की मस्जिदों में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। डलमऊ : कस्बे की बड़ी मस्जिद, गदागंज की धमधमा, जलालपुरधई सहित दर्जनभर मस्जिदों में नमाज अदा की गई। इस दौरान प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद रहा। परशदेपुर के पूरे काजी के पास स्थित ईदगाह में मौलाना मोहम्मद इस्लाम नदवी ने नमाज अदा कराई। उन्होंने देश में अमन व शांति की दुआ की। अंसार चौकी पर नूरानी मस्जिद में मौलाना जैद, जामा मस्जिद में मौलाना युनूस, रहमानी मस्जिद में मौलाना तौकीर ने नमाज अदा कराई।

सलोन : ईदगाह के शाही इमाम शाह मोहम्मद अशरफ अता मियां ने नियमों का पालन करते हुए नमा•ा अदा कराई। कोरोना महामारी से जल्द निजात दिलाए जाने के लिए दुआ की। शाही इमाम शाह के बड़े भाई शाह मोहम्मद खालिद अता, ईदगाह कमेटी के अध्यक्ष गुलाम हुसैन अल्लन सिद्दीकी मौजूद रहे। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने घर में नमाज अदा कर मुल्क में तरक्की और अमन की दुआ मांगी। कोतवाली प्रभारी पंकज त्रिपाठी पुलिस बल के साथ मुस्तैद रहे।