रायबरेली : यात्रियों की सुविधा की खातिर परिवहन निगम ने टिकट व्यवस्था का पहले ही आधुनिकीकरण कर दिया था। मैनुअल टिकट बनाने की जगह इलेक्ट्रानिक टिकट मशीनों (ईटीएम) का उपयोग हो रहा था। अब डेबिट, क्रेडिट कार्ड से किराया चुकाने का विकल्प होगा। पेटीएम और गूगल-पे से भी भुगतान किया जा सकेगा।

रायबरेली डिपो में अनुबंधित और निगम की मिलाकर 171 बसें हैं। इनसे प्रतिदिन करीब 25 हजार यात्री सफर करते हैं। इनमें से लगभग 800 मुसाफिर मासिक सीजन टिकट वाले होते हैं। यात्रियों के टिकट ईटीएम से बनाने की व्यवस्था है। सेवा प्रदाता कंपनी ट्राइमैक्स की ओर से यह मशीनें उपलब्ध कराई गई थीं। लंबे समय से यही कंपनी काम देख रही थी, लेकिन अब परिवहन निगम ने इसे बदल दिया है। उसने मेसर्स ओरियन प्रो ट्रांजिट साल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड मुंबई को यह जिम्मेदारी सौंपी है। क्रेडिट और डेबिट कार्ड से किराए के भुगतान की सुविधा भी यह नई कंपनी यात्रियों को उपलब्ध कराएगी। 50 मशीनें हो गई थीं खराब

रोडवेज में ट्राइमैक्स कंपनी की ओर से 175 ईटीएम उपलब्ध कराई गई थीं। इनमें से लगभग 50 मशीनें खराब पड़ी हैं। लगातार पत्राचार के बाद भी इन्हें बदला नहीं गया। इसके कारण काफी समस्याएं आ रही थीं। कई बसों में मैनुअल टिकट बनाए जा रहे थे। नई कंपनी के काम संभालने के बाद नई ईटीएम मिलेंगी। तीन महीने के अंदर बदल जाएगी व्यवस्था

नई संस्था को तीन महीने के अंदर ही जिम्मेदारी संभालनी है। इसके काम शुरू करने के बाद काफी सहूलियत मिलेगी। आए दिन मशीनें खराब होने की समस्या से परिचालकों को जहां छुटकारा मिल जाएगा, वहीं जेब में रुपये न होने पर यात्री एटीएम कार्ड से भी भुगतान कर सकेंगे। ------------

परिवहन निगम की ओर से टिकट की व्यवस्था के लिए नई सेवा प्रदाता कंपनी को काम दिया गया है। जल्द ही यह कंपनी काम शुरू कर देगी। इसके बाद यात्रियों को बेहतर और कई नई सुविधाएं मिलेंगी।

अक्षय कुमार

सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक

Edited By: Jagran