रायबरेली : नहरों में पानी न आने से खफा किसानों ने शनिवार को दुलापुर नहर कोठी में अनशन शुरू कर दिया। पानी न आने के लिए अन्नदाता अफसरों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। देर शाम अफसर नहर कोठी और किसानों को समझाने का प्रयास किया। काफी मान मनौव्वल के बाद रविवार तक पानी छोड़े जाने के आश्वासन के बाद सभी माने। क्षेत्र के भगवंत नगर खजूरगांव के रजबहे में उन्नाव जनपद के डोंडिया खेड़ा गांव स्थित डलमऊ बी पंप नहर से जल आपूर्ति की जाती है। किसान शशिकांत तिवारी, गिरधारी लाल सिंह, जगन्नाथ तिवारी ने बताया कि डलमऊ बी पंप नहर का पानी क्षेत्र की नहरों में न देकर उन्नाव ब्रांच को दे रहे हैं। फसल की सिचाई न होने से सूख रही है। इसे जिम्मेदार भी जानते हैं, लेकिन मांग के बाद भी पानी नहीं दिया जा रहा है। किसानों ने शुक्रवार तक नहरों में पानी छोड़े जाने की चेतावनी दी थी। इसके बावजूद निर्धारित समय में पानी न आने पर अनशन शुरू कर दिया। दिनभर तो किसानों की सुध लेने कोई नहीं पहुंचा।

शाम तक किसानों के नहीं हटने पर सिचाई विभाग उन्नाव के एसडीओ प्रेमचंद्र आर्या, एसडीएम लालगंज विनय कुमार मिश्र, सीओ लालगंज राघवेंद्र चतुर्वेदी पहुंचे और सभी को समझाने का प्रयास किया। कोई नहीं माना तो अफसरों ने रविवार को नहरों में पानी आने का आश्वासन दिया। इसके बाद अनशन समाप्त हो सका। किसानों ने बताया कि रविवार को पानी न आया तो सोमवार को आगे की रणनीति तय की जाएगी। अमितेंद्र सिंह राठौर, राज बहादुर यादव, राजेंद्र विश्वकर्मा, गोविद सिंह, राजू सिंह, छेदीलाल, अमर बहादुर, अंजू वर्मा, राम शंकर, शिव शंकर, बिदा प्रसाद, राकेश पटेल, राजकुमार, ओम प्रकाश, महेंद्र सिंह मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप