हरचंदपुर (रायबरेली) : डी फार्मा छात्र हत्याकांड की जांच में फॉरेंसिक टीम को भी शामिल कर लिया है। सोमवार को पहले रायबरेली फिर लखनऊ से आई टीम ने साक्ष्य संकलन किया। लगभग तीन घंटे तक तहकीकात की गई।

वारदात के लगभग पांच दिन बाद फॉरेंसिक एक्सपर्ट डॉ. प्रतिभा त्रिपाठी और अजीत तिवारी हरचंदपुर थाने पहुंचे। वहां खड़ी आदित्य की बुलेट और वारदात में प्रयुक्त स्कॉर्पियो की छानबीन की गई। दोनो गाड़ियों पर मिले स्क्रैच की फोटो कराई गई। साथ ही पेंट का सैंपल लिया गया। टीम ये पता करने की कोशिश कर रही है कि आदित्य की बुलेट में स्कॉर्पियो से टक्कर लगी या नहीं। फिर शाम लगभग पांच बजे लखनऊ फॉरेंसिक लैब से डिप्टी डायरेक्टर अनुज कुमार झा, डॉ विपिन अशोक भी आ गए। उन्होंने अब तक हुई तहकीकात के बाबत रायबरेली टीम से पूछा। फिर पूरी टीम घटनास्थल गढी खास पहुची और जांच पड़ताल भी की।

शहर में कैंडल मार्च

सोमवार को भी शहर में सुपर मार्केट से डिग्री कॉलेज तक कैंडल मार्च निकाला गया। हाथ में तख्तियां लिए परिवार के लोग व जानने वाले सड़क पर उतरे। पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। इस दौरान करीब एक सैकड़ा लोग मौजूद रहे।

विधायक ने जाना हाल

सदर विधायक अदिति सिंह सोमवार को मृतक छात्र आदित्य सिंह के घर सिकंदरपुर, महराजगंज पहुंची। उन्होंने छात्र के परिवारजनों को ढांढस बंधाया। वह लगभग दो घंटे उनके घर पर रुकीं। उन्होंने हत्यारोपितों की अतिशीघ्र गिरफ्तारी कराने का आश्वासन दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस