रिमझिम बारिश में जाम ने रोका यातायात

रायबरेली : बंदी के दूसरे दिन यातायात व्यवस्था धड़ाम हो गई। भीड़ निकली तो मुख्य सड़कों पर जाम लग गया। रिमझिम बारिश के बीच लोग जाम में फंसे और भीगते रहे। कई घंटे मशक्कत के बाद आवागमन बहाल कराया जा सका। मंगलवार को शहर में बंदी थी। बुधवार को बाजार खुला तो भीड़ का दबाव बढ़ा। सड़क किनारे वाहन खड़ा करके लोग अपने-अपने काम निपटाने में जुट गए। उन्होंने ये नहीं सोचा कि उनकी गलत पार्किंग की वजह से जाम लग सकता है। हुआ भी वही। कचेहरी रोड पर दोपहर 12 बजे जेजे प्लाजा से लेकर जिला अस्पताल चौराहे तक जाम लगा रहा। दो होमगार्ड जाम खोलवाने के लिए मशक्कत करते रहे, लेकिन तब भी आवागमन बहाल में काफी वक्त लग गया। जिला अस्पताल से महिला अस्पताल जाने वाला मार्ग तो पूरा ही जाम हो गया। महिला अस्पताल के सामने ही मरीजों के तीमारदारों की गाड़ियां खड़ी होती हैं। वहां पार्किंग की व्यवस्था नहीं है। इसकी वजह से सड़क तक गाड़ियां लगा दी जाती हैं। इसी के चलते जाम लग जाता है। यही नहीं, एंबुलेंस भी अस्पताल के सामने ही खड़ी होती हैं। एंबुलेंस जब मरीज लेकर आती हैं, तो सड़क पर ही गाड़ी खड़ी कर दी जाती है, क्योंकि पटरी पर जगह ही नहीं होती। इस कारण भी आवागमन प्रभावित होता है। इस बाबत व्यापारियों संग शहर वासियों ने कई बार प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन इस समस्या का समाधान अब तक नहीं कराया जा सका। शहर में पार्किंग की जगह अब तक नहीं खोजी जा सकी है। वैकल्पिक व्यवस्था के लिए भी प्रयास न के बराबर हुए हैं। यही वजह है कि शहर में निकलने वाले लोग अपनी गाड़ियां सड़क किनारे खड़ी कर देते हैं, जिसकी वजह से जाम लग जाता है। महिला अस्पताल के सामने पार्किंग की समस्या है, इसका निदान खोजा जा रहा है। शहर में भी पार्किंग की जगह खोजने के लिए पुलिस, प्रशासन और नगर पालिका की संयुक्त टीम प्रयास कर रही है। वंदना सिंह, क्षेत्राधिकारी यातायात

Edited By: Jagran