रायबरेली: अहमदपुर नजूल में महानंदपुर गांव के पीछे बंजर जमीन पर अवैध कब्जा करके प्लाटिग की गई थी। शुक्रवार को पुलिस और प्रशासनिक टीम ने बुलडोजर चलाकर जमीन को कब्जा मुक्त करा दिया। साथ ही आसपास के लोगों को हिदायत दी कि सरकारी जमीन पर अतिक्रमण न करें।

तहसीलदार उमेश चंद्र की अगुवाई में पुलिस, प्रशासन और नगर पालिका की टीम उक्त भूखंड पर पहुंची। वहां करीब चार बीघे बंजर जमीन पर प्लाटिग की गई थी। कुछ पर तो दीवारें और कमरे भी बना दिए गए थे। हाल ही में जमीन की नापजोख हुई तो पता चला कि उक्त भूखंड तो बंजर है। इस पर लेखपाल ने रिपोर्ट उप जिलाधिकारी को सौंपी। एसडीएम के निर्देश पर शुक्रवार को उस जमीन पर बुलडोजर चलाया गया। खास बात ये रही कि प्लाटिग करने वाले आसपास नजर तक नहीं आए। करीब एक घंटे के भीतर सारी प्लाटिग तोड़ दी गई। बताया जा रहा है कि उक्त जमीन की कीमत करोड़ों में है, जिस पर कब्जा कर लिया गया था। ये कब्जा कई सालों से था, जिस पर अब कार्रवाई हुई है। अब ये भूखंड नगर पालिका के सिपुर्द कर दिया गया है। इसके अलावा साकेत नगर में कुछ लोगों ने नजूल की जमीन पर चहारदीवारी बनाकर कब्जा कर लिया था। उसे भी पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीम ने ढहा दिया। राही विकास क्षेत्र में भी हाईवे किनारे अवैध कब्जा करने वालों पर कार्रवाई की गई।

एसडीएम राजेंद्र शुक्ल ने बताया कि महानंदपुर में हिमांशू सिंह और साकेत नगर में नीलेश मिश्रा व उनके साथियों ने सरकारी जमीन पर कब्जा किया था। अतिक्रमण हटा दिया गया है। इन सभी को नगर पालिका की ओर से नोटिस भेजी जा रही है।

स्टेशन रोड पर चला अभियान

लालगंज: उप जिलाधिकारी विजय कुमार और अधिशाषी अधिकारी अनुराग शुक्ल की अगुवाई में शुक्रवार को स्टेशन रोड पर अभियान चलाया गया। नाली के ऊपर बने पक्के निर्माण बुलडोजर से तोड़ दिए गए। स्थानीय लोगों ने गुड़ाही मंडी, शक्कर पट्टी और सर्राफा मंडी में भी अभियान चलाने की बात अधिकारियों के सामने रखी। ईओ ने कहा कि जल्द ही उन बाजारों में भी अतिक्रमण हटवाया जाएगा।

Edited By: Jagran