रायबरेली : विजय दशमी को लेकर लोगों मे जबरदस्त उत्साह है। शहर के सुरजूपुर में पुतला दहन होगा। वहीं मेला को लेकर व्यापारी उहापोह में है। हालांकि नगर पालिका की ओर से साफ-सफाई के पूरे इंतजाम करा दिए गए हैं। कहीं पर किसी तरह की दिक्कत न हो इसको लेकर ईओ द्वारा कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया गया। शुक्रवार को धूमधाम से श्रीराम, लक्ष्मण और सीता की शोभायात्रा निकाली जाएगी। वहीं राम और रावण युद्ध का कलाकार मंचन करेंगे। इसके बाद सत्य की असत्य पर विजय को दर्शाते हुए रावण दहन किया जाएगा।

ईओ डा. आशीष कुमार सिंह ने बताया कि दशहरा मेला को लेकर नगर पालिका की ओर से साफ-सफाई करा दिया गया हे। पुतला दहन के दौरान किसी तरह की अव्यवस्था न हो इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। साथ ही कर्मचारियों की टीम भी तैनात कर दिया गया है। शहर के अलावा ग्रामीण अंचलों में दशहरा मेला को लेकर आयोजकों में उत्साह है। दो दशक बाद लगेगा मेला, प्रशासन सतर्क

संसू, ऊंचाहार : रामलीला मैदान पर दो पक्षों के बीच स्वामित्व के विवाद के चलते करीब दो दशकों से दुर्गा पूजा और रामलीला मंचन के साथ दशहरा पर लगने वाला मेला बंद हो गया था। कोर्ट के आदेश के अनुपालन में प्रशासन ने रावण दहन और दशहरा मेला के आयोजन की अनुमति दे दी है। इसके साथ ही किसी तरह का बवाल न हो इसके लिए गाइड लाइन भी जारी किया है। एसडीएम विनय कुमार मिश्र ने गुरुवार को रामलीला समिति को मेला आयोजन और रामलीला के लिए सशर्त अनुमति देते हुए हर हाल में कोरोना गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराते हुए मेला स्थल पर शांति व्यवस्था में सहयोग बनाए रखने को कहा है। दिशा निर्देश में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि विवादित स्थल पर किसी भी प्रकार की संपत्ति को क्षति नहीं पहुंचाई जाएगी। एसडीएम ने स्पष्ट किया है कि मेला आयोजन के दौरान आम मार्ग नहीं अवरुद्ध होगा। मेला स्थल पर किसी भी प्रकार के राजनैतिक आयोजन पर प्रतिबंध होगा। एसडीएम ने बताया कि वीडियोग्राफी कराने के भी निर्देश दिए हैं। ----------------

शासन की गाइडलाइन के अनुसार ही आयोजन कराने के लिए कहा गया है। रावण दहन, दशहरा मेला के दौरान आयोजन समितियों को सतर्क रहने और कहीं पर किसी तरह की असुविधा न हो इसके निर्देश दिए गए हैं।

राजेंद्र कुमार, प्रभारी सिटी मजिस्ट्रेट

Edited By: Jagran