प्रतिकूल प्रविष्टि पर खंड शिक्षा अधिकारी संघ खफा

रायबरेली : प्रदेश के 119 खंड शिक्षा अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि दिए जाने पर संघ के पदाधिकारियों ने नाराजगी जताई है। लखनऊ में उत्तर प्रदेश विद्यालय निरीक्षक संघ (खंड शिक्षा अधिकारी संघ) की बैठक में सभी ने आपत्ति जताते हुए उचित कदम उठाने की मांग की। साथ ही लंबित मांगों के निस्तारण में हीलाहवाली का आरोप लगाते हुए आक्रोश जताया। खंड के प्रदेश महासचिव एवं खंड शिक्षा अधिकारी मुख्यालय वीरेंद्र कुमार कनौजिया ने बताया कि बैठक में विभागीय कार्रवाई से हर कोई क्षुब्ध है। प्रदेश अध्यक्ष प्रमेंद्र कुमार शुक्ल ने अलग-अलग मुद्दों पर उच्चाधिकारियों की नीतियों की आलोचना करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी। कहा कि शिक्षा निदेशक (बेसिक) द्वारा बिना सुनवाई का अवसर देते हुए त्रुटिपूर्ण एप के आधार पर मान्यता विद्यालयों के प्रकरण पर प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी गई। अधिकांश बीईओ संदर्भित अवधि में अवकाश पर रहे या उनके निजी मोबाइल पर विभाग द्वारा बाह्य किए गए मान्यता एप पर लंबित भी कभी प्रदर्शित नहीं हुई। प्रकरण पर मजिस्ट्रेट जांच की मांग करते हुए वास्तविक दोषियों पर कार्रवाई की मांग की। साथ ही शिक्षा निदेशक (बेसिक) के प्रति निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। इसी तरह लंबित एसीपी प्रकरणों के निस्तारण, निजी मोबाइल पर एप चलाने की बाध्यता समाप्त करने, ब्लाक में कोआर्डिनेटर और ब्लाक क्वालिटी कोआर्डिनेटर की नियुक्ति, बीईओ के स्थानांतरण में अनियमितता आदि पर चर्चा की गई। वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय शुक्ला, संयुक्त मंत्री आरपी यादव, इंदिरा, माधवराज त्रिपाठी, वरुण मिश्र, स्कंद गुप्त, रामराज, राजेश सिंह, राजेश यादव आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट