लीड:::: रुक-रुककर दिनभर बरसे बदरा, किसानों के चेहरे खिले

रायबरेली : सूख की आहट से परेशान सावन का पवित्र माह खुशहाली भरा साबित हो रहा है। वजह, पिछले कुछ दिनों से लगातार रुक-रुक बारिश हो रही है। शुक्रवार को मौसम का मिजाज भोर से ही बदला रहा। उमस भरी गर्मी से परेशान लोगों को झमाझम बारिश होने से बड़ी राहत मिली। झूमकर बदरों के बरसने से शहर से देहात तक पानी ही पानी हो गया। कई जगह जलभराव के बीच लोगों को निकलना पड़ा। दिन में रुक रुक कर बारिश हुई। शहर के निचले हिस्सों में पानी भर गया। घुटनों से ऊपर भरे पानी में लोग निकलने को मजबूर हुए। बारिश होने से अन्नदाताओं के चेहरे खिल गए।

झमाझम बारिश तो कहीं फुहारे पड़ने से शहर और देहात में लोगों को बड़ी राहत मिली। उमस भरी गर्मी से जूझ रहे लोगों ने मौसम का खूब आनंद लिया। घरों में बच्चे और बड़े झमाझम बारिश में छतों पर खूब नहाए। बारिश होने से शहर में जहां लोगों को राहत मिली तो वहीं आफत भी टूटी। निचले इलाकों पानी भर गया। कई जगह लोगों को रास्ता तक बदलना पड़ा। मौसम वैज्ञानिक के अनुसार इस सप्ताह रुक रुककर हल्की से तेज बारिश होते रहने के आसार हैं।

धान की रोपाई में आई तेजी

सूखे की आहट से परेशान अन्नदाताओं के लिए सावन खुशहाली भरा है। धान की रोपाई का समय बीत रहा था। बमुश्किल 25 से 30 प्रतिशत हिस्से में धान की रोपाई हो सकी थी। बारिश नहीं होने से हर कोई परेशान था। किसान ऊंचाहार के किसान विजय सिंह, सतांव के हंसराज का कहना है कि मोटर से सिंचाई महंगी पड़ रही थी। बारिश होने के बाद अब राहत है। कम से कम धान की रोपाई तो हो सकेगी।

Edited By: Jagran