लालगंज (रायबरेली) : आधुनिक रेलकोच कारखाना के आवासीय परिसर स्थित सरस्वती प्रेक्षागृह में रेल सप्ताह समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें वित्तीय वर्ष 2018-19 में विभिन्न क्षेत्रों में किए गए उत्कृष्ट कार्याें के लिए 68 एकल व 17 ग्रुपों में 164 अधिकारियों व कर्मचारियों को पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाप्रबंधक सुनीत कुमार शर्मा ने कहा कि 1425 कोचों का उत्पादन कर कारखाना ने रिकार्ड बनाया है। इन डिब्बों में आधुनिक सुविधाओं से युक्त एलएचबी, डीएसएलआर, अंडरस्लंग कोच, प्रथम स्मार्ट कार, प्रथम एलएचबी एसी पैंट्री कार, प्रथम एलएचबी नॉन एसी चेयर कार व प्रथम एलएचबी ट्रैक रिकार्डिंग कार का निर्माण किया गया है। डिब्बा निर्माण में केवल उत्पादन पर ही नहीं बल्कि गुणवत्ता पर भी ध्यान दिया है। गुणवत्ता नीति के तहत यूरोपीय गुणवत्ता मानक पद्धति इंडस्ट्री 4.0 (आइआरआइएस) हासिल करने वाली आरेडिका भारतीय रेल की पहली इकाई बनी है। महाप्रबंधक ने पुरस्कार पाने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई देते हुए सभी कर्मचारियों, पर्यवेक्षकों व अधिकारियों को वित्तीय वर्ष 2019-20 में 1500 कोचों का उत्पादन करने तथा आने वाले सालों में उत्पादन बढ़ाते हुए 2000 कोच प्रतिवर्ष उत्पादन करने का लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रेरित किया। बताया कि 16 अप्रैल 1853 को मुंबई से ठाणे के बीच पहली रेलगाड़ी चली थी। उसी के चलते प्रति वर्ष रेल सप्ताह मनाया जाता है। कार्यक्रम के दौरान दावा छेरिग, श्रीकांत राय, जयदेव कुमार अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस